आम आदमी हो जाओ सावधान, दीवाली पर जेब ढीली करेगा रुपया, ये सामान होगा महंगा

डॉलर के मुकाबले रुपए में रिकार्ड गिरावट से इस दीवाली पर उपभोक्ताओं की जेब ढीली हो सकती है। इस त्यौहार पर मेवे, खाद्य तेल, बर्तन, लाइटिंग सामान, उपहार आदि का बड़े पैमाने पर आयात होता है। कमजोर रुपए से इनका आयात ऊंचे भाव पर होने से दीवाली पर यह महंगे बिकेंगे।

मेवे-बादाम हुए महंगे
दिल्ली के मेवा कारोबारी कमलजीत बजाज ने बताया कि बादाम, पिस्ता समेत अन्य मेवों का देश में बड़े स्तर पर आयात होता है और इनकी सबसे ज्यादा मांग दीवाली पर आती है। दीवाली की मांग के लिए जुलाई से इनका आयात हो रहा है। इस बीच डॉलर के मुकाबले रुपया रिकार्ड निचले स्तर 73 रुपए के करीब चला गया है। इससे मेवे के दाम 30 से 40 रुपए प्रति किलोग्राम बढ़ चुके हैं और दीवाली तक कम से कम इतने ही और बढ़ सकते हैं। इस समय बादाम 680 से 900 रुपए, काजू 800 से 1100 रुपए, पिस्ता डोडी 950 से 1200 रुपए किलो बिक रहा है।
|
PunjabKesari

रुपए के कारण खाद्य तेल के दाम गिरे
खाद्य तेल कारोबारी हेमंत गुप्ता कहते हैं कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में खाद्य तेल के दाम गिरे हैं और देश में भी अच्छी तिलहन फसल की संभावना है। ऐसे में खाद्य तेल के दाम गिरने चाहिए थे लेकिन रुपए में रिकार्ड कमजोरी के चलते गत 15-20 दिनों में इनके दाम 2 प्रतिशत तक बढ़े हैं।

PunjabKesari

बर्तन बनाने का कच्चा माल हुआ महंगा
डिप्टीगंज स्टेनलैस स्टील यूटैंसिल्स ट्रेडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष सुधीर जैन ने कहा कि बर्तन बनाने के लिए उपयोग होने वाला कच्चा माल आयात होता है। कमजोर रुपए से इसका आयात महंगा हो गया है। इससे इस दीवाली बर्तन कम से कम 10 प्रतिशत महंगे बिक सकते हैं। दिल्ली इलैक्ट्रिकल ट्रेडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष और भागीरथ प्लेस के इलैक्ट्रिकल कारोबारी भरत आहूजा कहते हैं कि कमजोर रुपए से इस दीवाली पर लाइटिंग सामानों की कीमतें 20 प्रतिशत ज्यादा रहने के आसार हैं।

Facebook Comments