शहीद कार्यकर्त्ता जिन्दा है कर्नाटक में …….

कर्नाटक चुनाव की गहमा-गहमी के बीच बीजेपी ने हिंदू कार्यकर्ताओं की हत्या और शहीदों की एक लिस्ट का किस्सा आप को याद ही होगा. मगर सूत्रों की माने तो शहीद बताया गया एक शख्स जिंदा है. बीजेपी ने हिंदू कार्यकर्ताओं की लिस्ट जारी कर आरोप लगाया था कि सभी की जेहादियों ने हत्या कर दी है. बीजेपी की इस चर्चित लिस्ट में 23 लोगों के नाम हैं. आरोप लगाया था कि कांग्रेस के 4 साल के शासन के दौरान बीजेपी-आरएसएस के इन कार्यकर्ताओं की हत्या की गईं. जब इस लिस्ट की पड़ताल की तो हैरान करने वाली जानकारी सामने आई. बीजेपी के शहीदों की लिस्ट में सबसे ऊपर  अशोक पुजारी का नाम दर्ज है जो फ़िलहाल जिन्दा है और सही सलामत है. बीजेपी के 23 शहीदों की लिस्ट में अशोक पुजारी की हत्या की तारीख 20 सितंबर 2015 बताई गई है.

योगी ने कहा कि आज यूपी में जेहादी नहीं हैं, लेकिन कर्नाटक में जेहादी हैं. उत्तर प्रदेश में आज आप बेगुनाहों को नहीं मार सकते हैं, लेकिन कर्नाटक में हिंदू मारे जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि कर्नाटक में बीजेपी और हिंदू कार्यकर्ताओं को मारा जा रहा है, लेकिन राज्य सरकार जिहादी तत्वों को सपोर्ट कर रही है.

उडुपी में अशोक पुजारी ने बताया, ‘मैं हमलावरों को नहीं जानता था. मैंने केसरिया गमछा सिर पर पहना हुआ था. सुबह के वक्त गमछे को सिर पर बांधा था, ये देखकर उन्होंने हमला किया.’ अशोक पुजारी ने बताया, ‘मेरे ऊपर 2016 में हमला हुआ था. मैं बैंड बजाने गया था. वापस आते वक्त हमला हुआ. वो लोग प्रशांत पुजारी का मर्डर करने गए थे. प्रशांत पुजारी से पहले मुझ पर हमला हुआ. उस वक्त मेरी हालत मरने वाली थी. गलती से मेरा नाम लेटर में आया.’

 

Facebook Comments