आया नया मोड़ कठुआ गैंग रेप केस में…..

यह घटना जम्मू कश्मीर के कठुआ की जहाँ पर 10 जनवरी को एक बच्ची लापता हो गई थी जिसकी उम्र 8 साल थी. एक सप्ताह बाद बच्ची कठुआ के जंगलों में मिली, जिसके बाद जाँच में सामने आया था कि उसका एक हफ्ते तक नशीली दवाइयां खिलाकर बलात्कार किया गया था. इस काण्ड के बाद देश भर में लोगों ने न्याय के लिए प्रदर्शन किए.

जम्मू-कश्मीर के चर्चित आसिफा गैंग रेप में फिर एक नया मोड़ आया है, जिसके अनुसार रेप के एक मुख्य आरोपी विशाल जंगोत्रा ने पुलिस को रेप के समय एक परीक्षा में शामिल होने की बात बताई थी वो अब झूठ होती हुई दिखाई दे रही है. दरअसल 7 से 10 जनवरी तक मुजफ्फरनगर में एक परीक्षा में विशाल के हस्ताक्षर पाए गए थे जो अब उसके ओरिजिनल हस्ताक्षर से मेल नहीं खाते.

 

आरोपी के वकील ने सुप्रीम कोर्ट में अपनी दलील में कहा था कि वो मुजफ्फरनगर में अपने तीन दोस्तों के साथ एक परीक्षा में शामिल था, परीक्षा में उसके हस्ताक्षर भी सामने आये थे जिसके बाद फोरेंसिक लैब की हाल ही में आई रिपोर्ट में सामने आया कि वो उसके ओरिजिनल हस्ताक्षर से मेल नहीं खाते. जांच टीम के अधिकारियों ने बताया कि सेंट्रल फॉरेंसिक साइंसेस लेबॉरेटरी (CFSL) ने जम्मू-कश्मीर पुलिस को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है.

 

 

Facebook Comments