बारिश में स्कूल प्रमाणपत्र खराब होने से परेशान छात्र ने की आत्महत्या

केरल में भारी बारिश और बाढ़ से 12वीं कक्षा का प्रमाणपत्र खराब होने से परेशान 19 वर्षीय एक युवक ने आत्महत्या कर ली। पुलिस ने आज यह जानकारी दी। कोझिकोड जिले के करंतूर में रहने वाले युवक कैलाश का घर पानी में डूब गया जिसके बाद उसे परिवार सहित राहत शिविर में भेज दिया गया था।

उन्होंने बताया कि कैलाश ने आईटीआई में एक कोर्स के लिए दाखिला लिया था और इसके लिए उसने नए कपड़े भी सिलवाए थे। बारिश थोड़ा थमने पर कल जब वह अपने घर गया तो वहां पानी में भीगे प्रमाणत्र देख कर परेशान हो गया।

कुनामंगलम थाने के एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि युवक की मौत का पता उस वक्त चला जब उसके परिजन शाम को घर की साफ सफाई करने आए। पुलिस ने बताया कि उसे लटका देख कर वे स्तब्ध रह गए। वहीं अलप्पुझा जिले के सर्वाधिक प्रभावित चेंगनूर में एक महिला विलाप कर रही थी उसका आधर कार्ड, राशन कार्ड और सभी पहचान पत्र खो गए हैं।

केरल बाढ़ राहत के लिए एक महीने का वेतन दान करेंगे शिवसेना के सांसद और विधायक

शिवसेना ने आज अपने सांसदों और विधायकों से केरल बाढ़ राहत के लिए एक महीने का वेतन दान में देने को कहा। शिवसेना ने कहा कि धन केरल मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा किया जाएगा। पार्टी ने अभूतपूर्व बाढ़ से ग्रस्त केरल की जनता के साथ एकजुटता जाहिर की है।

शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने कहा कि केरल के साथ खड़े होते हुए, शिवसेना के सभी सांसद और विधायक केरल मुख्यमंत्री राहत कोष में एक महीने का वेतन दान में देंगे। उन्होंने ट्वीट किया कि बीते सप्ताह से, ठाणे शहर की हमारी इकाई केरल भेजने के लिए जरूरी खाद्य सामग्री और वस्त्र एकत्रित करने में सक्रिय रूप से जुटी हुई है। पिछले सप्ताह महाराष्ट्र के कांग्रेसी विधायकों ने कहा था कि वे केरल बाढ के राहत कार्य के लिए एक महीने का वेतन दान में देंगे।

Facebook Comments