कोहली की पहली पसंद नहीं है यह विश्व रिकार्डधारी बल्लेबाज़, खामोशी से बैठा है बैंच पर

इंग्लैंड दौरे पर गई भारतीय टीम में करुण नायर को भी चुना गया है, लेकिन वे अब तक प्लेइंग इलेवन का हिस्सा नहीं हैं। कारण साफ है कि प्लेइंग इलेवन के लिए नायर कप्तान विराट कोहली की पहली पसंद नहीं हैं।

करुण नायर ने इंग्लैंड के खिलाफ बल्लेबाजी करते हुए एक दिन में अपने पहले शतक को तिहरे शतक में तबदील करने वाले भारत के पहले और विश्व के तीसरे बल्लेबाज है।

यह करिश्मा आज तक भारत के सुनील गावस्कर,सचिन तेंदुलकर, वीरेन्द सहवाग, धोनी,कोहली जैसे धुरंधर भी नहीं कर पाए हैं। ऐसा करिश्मा विश्व के दो धुरंधर बल्लेबाज सर गारफील्ड सोबर्स और बॉब सिम्पसन ही कर पाए हैं।

दिसम्बर 1991 को राजस्थान के जोधपुर में कलाधरन और प्रेमा नायर के परिवार में जन्मे करुण नायर मूलरूप से केरल के अलपुझा जिले के रहने वाले हैं और वह शुरू से ही कर्नाटक की ओर से खेलते आए हैं। उनके पिता मैकेनिकल इंजीनियर थे, जब करुण का जन्म हुआ तब वह जोधपुर में तैनात थे। उनकी मां टीचर थी।

करुण नायर जब कक्षा 4 में पढ़ाई कर रहे थे तभी से क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया था। करुण नायर ने वनडे इंटरनेशनल में 16 जून 2016 को जिम्बाब्वे के खिलाफ हरारे स्पोर्ट्स क्लब में डेब्यू किया था।

26 नवम्बर 2916 को इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में डेब्यू किया था। अपने पहले ही मैच में मोहाली में नाबाद शतक लगाया था और इस टेस्ट सीरीज के फाइनल में तिहरा शतक जड़कर इतिहास ही रच डाला । हालांकि सामान्य आंकड़ों में तो यह कहा गया कि वीरेन्द्र सहवाग के बाद दूसरे ऐसे खिलाड़ी है जिन्होंने तिहरा शतक बनाया।

जबकि हकीकत यह है कि एक दिन में तिहरा शतक पूरा करने वाले भारत के पहले और विश्व के तीसरे खिलाड़ी है। पहले दिन करुण नायर 71 रन बनाकर नाबाद रहे थे। उसके अगले दिन उन्होंने पहले वह शतक पूरा किया उसके बाद दूसरा शतक बनाया और उसी दिन तीसरा शतक भी कम्पलीट किया।

इस तरह का कारनामा करने वाले विश्व के दूसरे अन्य दो खिलाड़ी हैं बॉब सिम्पसन और सर गैरीफील्ड सोबर्स। फिलहाल टीम इंडिया में शामिल होकर इंग्लैंड का दौरा कर रहे हैं। अभी तक उनकी बैटिँग देखने को नहीं मिली है।

Facebook Comments