Health : सारिडॉन-कोरेक्स के साथ 327 दवाओं को सरकार ने किया बैन, जानें क्यों?

कहीं आप भी तो सिरदर्द, खांसी-जुकाम या बुखार जैसी छोटी-मोटी बीमारियों को दूर करने के लिए अपनी मर्जी से दवा तो नहीं लेते। अपनी इस आदत में सुधार कर लीजिए, क्योंकि अब आपको कुछ दवाइयां मेडिकल स्टोर पर नहीं मिलेंगी। दरअसल, हाल ही में केंद्र सरकार ने 328 FDC यानी Fixed-Dose Combination वाली दवाइयों पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है। इनमें से कुछ दवाएं ऐसी भी हैं, जिनका लोग रोजमर्रा के जीवन में इस्तेमाल करते हैं।

क्यों लगा है एफडीसी दवाओं पर प्रतिबंध?
एफडीसी दवाएं वो होती हैं, जिन्हें दो या दो से अधिक दवाओं को मिलाकर बनाया जाता है। इन दवाइयों के लेने से शरीर के अंगों पर पर बुरा असर पड़ता है। कुछ लोगों को इस तरह की दवाइयां लेने की आदत भी पड़ जाती है, इसलिए लोगों की सेहत का ध्यान रखते हुए सरकार ने इन पर बैन लगा दिया है।

PunjabKesari

किन दवाइयों पर लगा है बैन?
स्वास्थ्य मंत्रालय ने 328 दवाइयों के निर्माण और बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया है। इन दवाइयों में सारिडॉन, स्किन क्रीम पांडर्म, कॉम्बिनेशन डायबिटीज नेडिसन ग्लुकोनॉर्म पीजी, एंटीबायोटिक ल्यूपिडिक्लोक्स, विक्स एक्शन 500, सुमो, जीरोडॉल, जिंटाप, पेन किलर्स, दिल के रोगों की दवाएं, डी-कोल्ड टोटल और एंटीबैक्टीरियल टैक्सिम AZ जैसी फेमस दवाइयां शामिल हैं।

PunjabKesari

कैसे नुकसान पहुंचाती है ये दवाइयां?
हल्का-सा सिरदर्द होने पर भी लोग सारिडॉन ले लेते हैं। लेकिन रिसर्च के मुताबिक, यह दवा सिरदर्द को दूर करने के साथ आपके शरीर को नुकसान पहुंचाती है। इसके अलावा, खांसी के लिए ली जाने वाली Corex Cough Syrup भी शरीर को अंदर से नुकसान पहुंचाती है। दूसरी दवाइयां भी आपके शरीर को बहुत कमजोर बना देती हैं, जिसके कारण इन पर बैन लगा दिया गया है।

PunjabKesari
आगे से ध्यान रखिए कि कोई भी दवाई लेने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें। आपकी यह छोटी-सी आदत आपको स्वस्थ रखेगी।

Facebook Comments