कोई भी नहीं कर सकेगा आपको मना, किसी से भी अपना काम निकलवाना हो तो अपनाएं ये 7 तरीके

आचार्य चाणक्य ने किसी काम को पूरा करने के लिए 7 तरीके बताएं हैं। चाणक्य सूत्र ग्रंथ (Chanakya Niti) के पहले अध्याय के 97 वें सूत्र में बताया है कि कोई भी काम पूरा करने के तरीको में साम,दाम,दण्ड, भेद, माया, उपेक्षा और इंद्रजाल आते हैं।

आचार्य बताते हैं कि इन 7 तरीको से कोई भी काम पूरा हो सकता है। आचार्य चाणक्य का ये सूत्र (Chanakya Niti) किसी भी राजा को सफल बनने के लिए दिया गया था। जिससे वह दुश्मनों से अपने राज्य और वहां की जनता की रक्षा कर सके।

चाणक्य सूत्र (Chanakya Niti)- यदप्रयत्नात कार्यसिद्धिर्भवति स उपाय:

1: अच्छा बोलकर या अच्छे व्यवहार से दूसरों को अपने अनुकूल बना लेना साम कहलाता है।

2: अपने अधिकार में आने वाले पैसों को दूसरों को देकर उसके बदले अपनी चीज प्राप्त करना दाम कहलाता है।

3: दुश्मन का धन या प्राण लेना या उसको शारीरिक कष्ट देना दण्ड कहलाता है।

4: दुश्मनों में आपस में कलह पैदा करना भेद कहलाता है।

5: दुश्मनों को लालच, धोखा देना या ठगना माया कहलाता है।

6: दुश्मनों से असहयोग यानी दुश्मन की मदद करने से दूसरों को रोकना उपेक्षा कहलाता है।

7: दुश्मनों के विरुद्ध षडयंत्र बनाना ही इंद्रजाल कहलाता है।

Facebook Comments