Live : जानें, ‘भारत बंद’ में कौन कांग्रेस के साथ और किसने बनाई दूरी

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों और डॉलर की अपेक्षा रुपये की कीमत कम होने को लेकर कांग्रेस की अगुवाई में आज विपक्षी पार्टियों ने आज ‘भारत बंद’ का आह्वान किया है। कांग्रेस का दावा है कि 20 विपक्षी दलों और कई व्यापार संगठनों ने उनके बंद के ऐलान का समर्थन किया है।  कांग्रेस का ये भारत बंद सुबह 9 बजे से दोपहर तीन बजे तक होगा। केंद्र के खिलाफ कांग्रेस के प्रदर्शन में सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के भी शामिल होने की संभावना है।
कांग्रेस ने भारत बंद में देश की करीब 20 विपक्षी पार्टियों के समर्थन का दावा किया है। जिन पार्टियों के समर्थन का कांग्रेस ने दावा किया है उसमें  – डीएमके, जनता दल (सेक्युलर), राष्ट्रीय जनता दल, राष्ट्रवादी कांग्रेस
– समाजवादी पार्टी,  महामहाराष्ट्र नवनिर्माण सेना, झारखंड मुक्ति मोर्चा
– तृणमूल कांग्रेस , डीएमके, मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी,
– बहुजन समाज पार्टी , राष्ट्रीय लोकदल , झारखंड विकास मोर्चा , केरल कांग्रेस (केसीएम)
– राष्ट्रीय समता पार्टी, शरद यादव की लोकतांत्रिक जनता दल, एआईडीयूएफ,
– स्वाभिमान पक्ष, और आम आदमी पार्टी समेत कुल 20 पार्टियां शामिल हैं
– इन सबके अलावा कांग्रेस दावा कर रही है कि कई चैंबर ऑफ कॉमर्स और कई मजदूर संगठनों का भी उसे साथ मिला है।

वहीं पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस, नवीन पटनायक की बीजू जनता दल, महाराष्ट्र सरकार में बीजेपी की सहयोगी शिवसेना, नीतीश कुमार की जनता दल (यू) और दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) ने इस बंद का विरोध किया है। आम आदमी पार्टी (आप) ने रविवार को ही स्पष्ट कर दिया था कि वह कांग्रेस द्वारा बुलाए गए सोमवार के भारत बंद में शामिल नहीं होगी। वहीं, पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस ने कहा है कि जिन मुद्दों पर बंद बुलाया जा रहा है, वह उस पर साथ है, लेकिन पार्टी सुप्रीमो और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की घोषित नीति के मुताबिक वह राज्य में किसी तरह की हड़ताल के खिलाफ है।

Facebook Comments