सावधान:अपने बच्चे को ये फल खिलने से पहले कुछ बातों का दें ध्यान…

महिला ने बताया कि बच्चे को अंगूर पसंद आने लगा,जिसके कारण वो उसे जल्दी-जल्दी खाने लगा, लेकिन जल्दी के चक्कर में वो पूरा अंगूर गटक गया, जो उसके फूड पाइप में अटक गया।

मां ने जैसे ही बच्चे को देखा तो वो उसे बैचेन लगने लगा। उसे सांस लेने में तकलीफ हो रही है। बिना देर किए एंजेला अस्पताल भागी, जहां एक्सरे के जरिए डॉक्टरों ने देखा कि बच्चे के फूड पाइप में कुछ गोल, मुलायम सा फंसा है।

 

डॉक्टरों को समझने में देर नहीं लगी। फौरन बच्चे के गले से फंसे हुए अंगूर को निकालने के लिए ऑपरेशन की तैयारी की गई और फिर जाकर बच्चे की जान बची। एंजेला ने अपने पोस्ट के जरिए मांओ को सचेत किया है कि वो बच्चों को कुछ भी खाने में देने से पहले सावधानी बरतें। ऐसे लोग आपको बहुत मिल जाएंगे जो इस तरह की घटनाओं को संयोग बताते हैं, लेकिन आपको बता दें कि वींड पाइप में खाने की चीजों के फंसने के चलते मौत के आंकड़े कम नहीं है ऑस्ट्रेलियन ब्यूरो ऑफ स्टैटिस्टिक्स के मुताबिक गले के वींड पाइप में खाना फंसने के कारण 9 साल से कम उम्र के करीब 2,500 बच्चे हर साल भर्ती कराए जाते हैं, जिनमें से 30 की मौत हो जाती है।

क्या हैं लक्षण
कई बार बच्चे सिक्का, ठोस चीजें, पैन के ढक्कन, खाने के बड़े टुकड़े निगल जाते हैं। ये चीजें आहार नली में फंस जाती है, जिसके चलते सांस लेने में तकलीफ होने लगती है। इसकी वजह से गले में दर्द, मुंह से लगातार लार निकलना, सांस लेने में तकलीफ, आवाज लड़खड़ाना, लगातार खांसी होना, घबराहट जैसी स्थिति पैदा हो जाती है।

क्या करें
अगर बच्चे के गले में कुछ अटक गया है तो बिना देर किए फौरन अस्पताल पहुंचकर डॉक्टर से संपर्क करें, जहां डॉक्टर एक्सरे के जरिए आहार नली में फंसी चीज का पता लगाकर ब्रोंकोस्कोपी के जरिए फंसी चीज को निकालकर बच्चे की जान बचा लेते है। कई स्थिति में इसोफेगोस्कोपी की मदद से बच्चे के गले में फंसी चीज को निकाला जाता है।

 

Facebook Comments