अमित शाह की रथ यात्रा पर कलकत्ता हाईकोर्ट ने लगाई रोक, बंगाल में BJP को लगा बड़ा झटका

 पश्चिम बंगाल के लोगों में अपनी पैठ मजबूत करने की कोशिश को बड़ा झटका लगा है। दरअसल कलकत्ता हाई कोर्ट ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की प्रस्तावित रथ यात्रा पर रोक लगा दी है।

पश्चिम बंगाल में जहा एक ओर बीजेपी की प्रस्तावित रथ यात्रा पर कलकत्ता हाईकोर्ट ने रोक लगा दी है वहीं दूसरी ओर बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष की गाड़ी को कुछ लोगों ने निशाना बनाया है। दरअसल पश्चिम बंगाल के सिताई से बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह अपनी रथ यात्रा शुरु करने वाले थे। हाईकोर्ट में इस विवाद पर अगली सुनवाई 9 जनवरी को होगी।

बीजेपी का 7 दिसंबर से उत्तर में कूचबिहार से अभियान शुरु करने का कार्यक्रम है। इसके बाद 9 दिसंबर को दक्षिण 24 परगना जिला और 14 दिसंबर को बीरभूमि जिले में तारापीठ मंदिर से बीजेपी का रथ यात्रा शुरु करने का कार्यक्रम है। इस कार्यक्रम के आयोजन से पहले पश्चिम बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष दिलीप घोष को निशाना बनाया गया। जिसकी बीजेपी ने कड़ी आलोचना की है।

a

पश्चिम बंगाल में रथयात्रा निकालने की तैयारी कर रही बीजेपी को कलकत्ता हाई कोर्ट से झटका लगा है। हाई कोर्ट की सिंगल बेंच ने रथयात्रा की इजाजत देने से इनकार कर दिया है। इस मामले में अदालत में अगली सुनवाई 9 जनवरी को होगी। पश्चिम बंगाल सरकार ने बीजेपी अध्यक्ष की इस रथ यात्रा को अनुमति देने से यह कहते हुए इनकार कर दिया कि इससे माहौल बिगड़ सकता है।

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का राज्य में पार्टी की लोकतंत्र बचाओ रैली आयोजित करने का कार्यक्रम है जिसमें तीन रथ यात्राएं शामिल है। राज्य सरकार ने कह है कि इस यात्रा से तनाव बढ़ सकता है। दूसरी ओर बीजेपी ने न्यामूर्ति तपब्रत चक्रवर्ती की पीठ ने बताया कि वह शांतिपूर्ण यात्रा करेगी। इस पर जब जज ने पूछा कि अगर कोई घटना होती हो तो इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा। इस पर बीजेपी के वकील अनिंद्य मित्रा ने कहा कि पार्टी शांतिरपूर्ण यात्रा निकालेगी और कानून व्यवस्था संभालने की जिम्मेदारी ममता सरकार की होगी।

Facebook Comments