प्यार भरें खत नाबालिग बेटी को आरोपित पिता लिखता था….

बता दें कि जानकारी के अनुसार आरोपित पिता पिछले एक वर्ष से भी अधिक समय से बच्ची के साथ ऐसी हरकत कर रहा था. इस मामले में पॉक्सो एक्ट के तहत बुराड़ी थाने में मामला भी दर्ज हुआ.  दिल्ली बाल अधिकार संरक्षण आयोग की सदस्य ज्योति राठी के मुताबिक लड़की का सौतेला पिता उस पर गंदी नजर रखता था.

यहां एक पिता ने बाप बेटी के रिश्तों को शर्म शार किया है. यह पिता अपनी ही  बेटी को प्यार भरें खत लिखता था. जानकारी के अनुसार यह सौतेला बाप  नाबालिग बेटी को प्रेम पत्र लिखने और बंधक बनाकर शारीरिक संबंध बनाने के लिए कहता था. चाइल्ड लाइन पर 17 वर्षीय पीड़िता की शिकायत के बाद आयोग ने इसका फैसला लेते हुए पीड़िता की मदद की.

इस मामले में सौतेले बाप को अपनी ही नाबालिग बेटी को प्रेम पत्र लिखने और बंधक बनाकर शारीरिक संबंध बनाने के लिए उस के साथ जबरजस्ती करने के मामले में दिल्ली बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने आरोपी को जेल भिजवा दिया है. पुलिस ने पहले अन्य धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की थी, लेकिन आयोग के हस्तक्षेप के बाद पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज किया. इस सौतेले पिता को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है.

 

Facebook Comments