छात्रा के एडमिट कार्ड पर लगाया ‘नंगी’ तस्वीर,बिहार के इस UNIVERSITY ने किया कमाल…..

दरभंगा के ललित नारायण मिथिला  विश्वविद्यालय अपने अजब गजब कारनामो को लेकर हमेशा से ही चर्चा में रहा है , कुछ वर्षो पहले पूर्व कुलपति साकेत कुशवाहा के कार्यकाल में भी तृतीय खंड में छात्र ने परीक्षा तो दिया 25 अंक का, लेकिन विश्वविद्यालय ने जो रिजल्ट प्रकाशन उसमें छात्र को मिला 40 अंक , वही जिस छात्र ने परीक्षा दिया एकाउंट ऑनर्स का, उसे विश्वविद्यालय ने मार्केटिंग ऑनर्स का रिजल्ट थमा दिया था। लेकिन नये कुलपति प्रो सुरेंद्र कुमार सिंह के आने के बाद यहां के छात्रों काफी उम्मीदे जगी ही थी की अब यहां की कार्यशैली में बदलाव आएगा।

 

लेकिन  छात्रों की उम्मीदे पर एक बार फिर पानी फिर गया, क्योकि  विश्वविद्यालय से जारी किया गया एक एडमिट कार्ड में छात्र की तस्वीर की जगह भगवान् गणेश की तस्वीर लगी हुई थी। इस बार तो मिथिला विश्वविद्यालय उससे भी चार कदम आगे निकल गया, इस बार तो विश्वविद्यालय डिग्री पार्ट थ्री की छात्रा के एडमिट कार्ड पर परीक्षार्थी की फोटो के जगह अश्लील तस्वीर लगा दी है।

 

दरअसल इस मामले का खुलासा तब हुआ जब खजौली प्रखंड के खजौली गांव निवासी संतोष शर्मा की पत्नी चांदनी कुमारी नेट से अपनी एडमीट कार्ड डाउनलोड की। बतादें की चांदनी कुमारी एसएमजे कॉलेज खाजेडीह के कला संकाय की डिग्री थर्ड पार्ट की छात्रा है और परीक्षा 10 अप्रैल 2018 से होना है। पीड़िता के अनुसार  फ़ार्म सही सलामत बारीकियों के साथ गया था।

 

इसके लिए उसने अपनी फीस भी भरी, लेकिन परीक्षा से पहले जब उसने अपना एडमिट कार्ड डाउन लोड कर देखा तो उसके पैरो तले की जमीन ही खिसक गयी, क्योकि विश्विद्यालय ने जो उसे एडमिट कार्ड जारी किया, उसमें परीक्षार्थी की फोटो के जगह अश्लील तस्वीर लगी थी।

जिसके बाद छात्रा और उसके परिजन ने इसकी शिकायत लेकर कालेज पहुंची तो कालेज में की तो कालेज प्रशासन ने इसकी शुद्धि के लिए 1500 सौ रुपया का फरमान सुना डाला। अपने साथ अन्याय होता देख पीड़िता ने इसकी जानकारी मीडिया को दी, जिसके बाद विश्विद्यालय प्रशासन जागा और आनन-फानन में उक्त एडमीट कार्ड पर से अश्लील तस्वीर को हटा दिया।

 

वर्तमान में उस पर कोई भी तस्वीर नहीं लगा हुआ है। वही मिडिया से बात करते हुए परीक्षा नियंत्रक कुलानंद यादव ने कहा की  एडमीट कार्ड पर अश्लील तस्वीर की जानकारी मिलते ही उस फोटो को रिमूव करवा दिया गया है, संबंधित ऐजेंसी को पूछा गया है आखिर यह कैसे हुआ, इसका जाँच चल रहा है।

Facebook Comments