फूलपुर हारने के बाद केशव प्रसाद ने बनाया हैरान करने वाला बहाना

यूपी में हुए गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा चुनावों में सपा-बसपा गठबंधन के आगे बीजेपी की हालत पतली दिखाई पड़ रही है। हालांकि प्रदेश के उप मुख्यमंत्री और फूलपुर सीट से जीते केशव प्रसाद मौर्य ने इसके पीछे दूसरी कहानी बताई है।

फूलपुर में बीजेपी के पिछड़ने पर सफाई देते हुए बीजेपी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने कहा, ‘शायद वोट पड़ने का भी असर पड़ रहा है। आमतौर पर बीजेपी की मानसिकता का वोटर घर से बाहर कम ही निकलता है।’ बीजेपी ने फूलपुर में कौशलेंद्र पटेल को अपना उम्मीदवार बनाया था।

वाराणसी के मेयर रहे कौशलेंद्र पटेल को भी सीएम योगी आदित्यनाथ का करीबी माना जाता रहा है। फूलपुर में कुर्मी मतदाताओं की अच्छी संख्या को देखते हुए बीजेपी ने पटेल को उम्मीदवार बनाया था, जबकि एसपी-बीएसपी ने भी इसी समुदाय के नागेंद्र पटेल को मौका दिया।

अंदरुनी कलह का बीजेपी पर पड़ा असर?
फूलपुर लोकसभा सीट से केशव मौर्य पत्नी को टिकट दिलाना चाहते थे। पार्टी ने इससे इनकार कर दिया। ऐसे में केशव प्रसाद मौर्य के समर्थकों की चुनाव से बेरुखी भी पिछड़ने की एक वजह हो सकती है।

Facebook Comments