भगवान बालाजी के मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा को विधि विधान के साथ संपन्न……

छत्तीसढ़ के मोवा में भगवान बालाजी का ऐसा मंदिर बनकर तैयार हुआ है जहां भक्त भगवान बालाजी के तीनों स्वरूपों के दर्शन कर पाएंगे. इस के साथ ही ये देश का पहला ऐसा मंदिर होगा जहां भगवान बालाजी के तीनो रूपों के दर्शन किये जा सकेंगे.

इस मंदिर का निर्माण मोवा में करीब आठ साल पहले ही शुरू हो गया था. इस मंदिर की उचाई 77 फीट है और ये एक तीन मंजिला मंदिर है. मंदिर में शनिवार को प्राण प्रतिष्ठा समारोह रखा गया है. प्राण प्रतिष्ठा समारोह में भगवान बालाजी के तीनों स्वरूपों की प्रतिष्ठा की जाएगी. इस समरोह के लिए मंदिर में कुछ खास तैयारियां भी की गई  हैं.

मोवा में भगवान बालाजी के मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा को विधि विधान के साथ संपन्न करवाने के लिए आचार्य गोडावर्ती अनंता वेंकटा दीक्षित स्वामी और दीक्षित आचार्य वेणु गोपाल उपस्थित रहेंगे. दोनों ही आचार्य तिरुपति वैध पाठशाला के हैं. इस मौके पर स्वामी सदानंद सरस्वती जी महाराज नि:सृत कथा प्रवचन करेंगे.

मंदिर के निर्माण के दौरान वास्तुशास्त्र का पूरा ख्याल रखा गया है. प्रथम तल पर गरुडजी के साथ भगवान बालाजी विराजेंगे. दूसरे तल पर बालाजी भगवान की वैसी ही प्रतिमा स्थापित की जाएगी जैसी तिरुपति में की गई है.

Facebook Comments