अगर आप भी कर रहे है पैकेट वाले milk का सेवन तो हो जाएँ सावधान…

मार्केट में मिलने वाले खुले दूध को काफी सावधानी पूर्वक उपयोग करने की जरूरत होती है। जैसे कि उसे अच्छी तरह उबालना, छानना आदि। अगर दूध अच्छी तरह उबालकर ठंडा नही किया गया हो तो उसके कुछ ही घण्टो में खराब होने का डर रहता है।

लेकिन बिना किसी जानकारी के आदतन लोग यही काम पैकेट वाले दूध के साथ भी करते हैं। जिसे हम पॉइश्चराइज्ड मिल्क भी कहते है। यहाँ पॉइश्चराइज्ड का सीधा मतलब यही होता है कि इस दूध को अच्छी तरह एक निश्चित तापमान पर गर्म किया गया है और यह पूरी तरह बैक्टीरिया से मुक्त है।

 

अब लोगो के मन मे सीधा यही सवाल उठता है कि क्या इस दूध को गर्म करने की आवश्यकता है? तो जवाब है नही। कई लोगों की यह भी धारणा रहती है कि क्योंकि दूध को प्लास्टिक में पैक किया गया है तो सीधे तौर पर हानिकारक हो सकता है।

यदि आप भी ये गलती कर रहे हैं तो अभी इसे रोक दीजिये, क्योंकि पॉइश्चराइज्ड दूध को गर्म करने की आवश्यकता ही नही है। इस बैक्टेरिया रोधी प्रक्रिया के दौरान दूध को पूरी तरह कीटाणु मुक्त कर दिया जाता है और इसे लंबे समय तक इस्तेमाल करने लायक बना दिया जाता है। दौबारा गर्म करने का नुकसान सिर्फ ये है कि इसमे मौजूद पोषक तत्व या तो कम हो जाते हैं या पूरी तरह नष्ट हो जाते हैं।

आप इस दूध को 4 डिग्री के तापमान पर 7 दिनों तक आराम से पीने लायक रकह सकते हैं। यकीन ना हो तो दूध पर लिखी एक्सपायरी डेट चेक करलें, उससे पहले आपके दूध के खराब होने की संभावना न के बराबर है।

 

Facebook Comments