मालगाड़ी में झाककर देखा इस लड़के ने तो फटी रह गईं आखें….

आनन-फानन में रेलवे पुलिस की मदद से स्टाफ ने बुरी तरह घायल महिला को रैक से बाहर निकाला और उसे जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

 

महिला के गले को धारदार हथियार से काटा गया था, साथ ही उसके शरीर पर चोटों के निशान मिले हैं। आशंका जताई जा रही है कि किसी ने उसकी हत्या करने के लिये उस पर हमला किया और उसे मृत मानकर साक्ष्य छुपाने के लिये मालगाड़ी के डिब्बे में फेंक दिया। महिला कहां की है और डिब्बे में कैसे पहुंची रेलवे पुलिस इस बाबत छानबीन कर रही है।

बताते चलें कि रेलवे समय के मुताबिक 01.30 बजे के करीब लखनऊ की ओर से चलकर मुगलसराय की ओर जा रही मालगाड़ी सुलतानपुर रेलवे स्टेशन की वाशिंग लाइन के पहले वाले ट्रैक पर पहुंची। इस दौरान यहां ड्राइवर बदले गये। मालगाड़ी के कई डिब्बों के दरवाजे खुले होने पर रेलवे स्टाफ उनको बंद करने लगा। इसी दौरान इंजन की ओर से 17वें डिब्बे में कराहने की आवाज पर रेलवे कर्मचारी चौंक गये। जब उन्होने डिब्बे में देखा तो एक महिला खून से लथपथ पड़ी कराह रही थी। इस सूचना पर रेलवे कर्मचारियों में हड़कम्प मच गया।

सूचना पर पहुंची रेलवे पुलिस ने घायल महिला को जिला अस्पताल पहुंचाया। जहां इलाज के दौरान महिला की मौत हो गई। फिलहाल महिला कहां से डिब्बे में आई और कौन है इस बाबत पुलिस तहकीकात में जुट गई है। थानाध्यक्ष जीआरपी ने बताया कि यह मालगाड़ी उतरठिया स्टेशन पर करीब दो घंटे खड़ी हुई थी, उसके बाद बंधुआकला रेलवे स्टेशन पर भी 15 मिनट खड़ी थी। आशंका जताई जा रही है कि इन्ही किसी स्टेशनों पर महिला को मारकर फेंका गया होगा। फिलहाल पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

Facebook Comments