एक बार फिर मानवता हुई शर्मसार,अस्पताल के बाहर धूप में गेट पर पड़ा रहा मरीज

हमेशा से सुर्खियों में रहने वाला एमजीएम अस्पताल एक बार फिर सुर्खियों में है. यहां अस्पताल के मुख्य गेट पर पड़े मरीज कि किसी ने मदद करने की नहीं सोची, पुलिस और चिकित्सक सामने से गुजरते रहे मगर मरीज कि मदद के लिए आगे नहीं आए.

जमशेदपुर के एमजीएम अस्पताल में एक बार फिर मानवता शर्मसार हुई. यहां अस्पताल के मुख्य गेट पर पड़े मरीज को चिकित्सक और पुलिस देखते रहे, मगर किसी ने भी उसकी मदद नहीं की.

वहीं झारखंड ह्यूमन राइट्स के सदस्यों ने उसे सहारा देकर इमरजेंसी वार्ड तक पहुंचाया और उस मरीज का इलाज करवाया. उन्होने कहा कि मरीज मुख्य गेट पर धूप में पड़ा रहा, पर किसी ने भी उसकी मदद नहीं कि, अस्पताल प्रबंधन के लोग भी सामने से गुजरते रहे मगर किसी ने भी उसे भर्ती नहीं करवाया.

एमजीएम अस्पताल की लचर व्यवस्था और डॉक्टरों की लापरवाही के कारण आए दिन मरीज के परिजनों द्वारा हो हंगामा होता रहता है मगर यह ताजा घटना इस बात को दर्शाता है कि यहां के चिकित्सक अपनी जिम्मेवारी का निर्वहन करने की बजाय आराम फरमाते हैं.

Facebook Comments