निकाह, हलाला विषय पर लाइव टीवी शो के दौरान पहले महिला ने मौलााना को मारा चाटा फिर मौलाना ने पीटा

टीवी न्यूज चैनलों में राजनीतिक और समाजिक विषयों पर बहस होते रहते हैं। इन बहस के लिए टीवी चैनल के स्टूडियो में गेस्ट को बुलाकर  डिबेट में हंगामा होते कई बार देखा गया है। कभी एंकर वहां बैठे पैनलिस्ट पर चिल्लाते दिखेंगे तो कभी प्रवक्ता एंकर पर। लेकिन इन सबको को पीछे छोड़ मंगलवार की शाम एक नीजी टीवी चैनल के प्रोग्राम में हद हो गई। यहां लाइव डिबेट कार्यक्रम में तीन तलाक पर बहस चल रही थी। इस दौरान एक मौलाना ने लाइव प्रसारण के दौरान पैनल में शामिल एक महिला से बदसलूकी की और दूसरी को पीट दिया। बीच-बचाव के बाद माहौल शांत हुआ। उधर लाइव शो के दौरान मारपीट की खबर लगते ही पुलिस भी न्यूज चैनल के ऑफिस पहुंची और मौलाना को हिरासत में ले लिया।

दरअसल चैनल में बहस का विषय निकाह हलाला के खिलाफ आवाज उठाने वाली महिला निदा खान के खिलाफ फतवा जारी करना था। सवाल पूछा जा रहा था कि निदा के खिलाफ फतवा कितना सही? बहस में शामिल महिलाएं सामाजिक कार्यकर्ता अंबर जैदी और वकील फराह फैज फतवा जारी करने वाले मौलाना को जाहिल वगैरह करार देकर अपनी बात रख रही थीं।

Fight in live tv show

बहस कुछ आगे बढ़ी ही थी कि मौलाना एजाज अरशद कासमी ने अंबर जैदी की एक टिप्पणी पर उन्हें ढोंगी औरत कहना शुरू कर दिया। उन्होंने एक और ओछी टिप्पणी की। इस पर अंबर जैदी बिफर गईं और वह मौलाना से माफी मांगने पर अड़ गईं। वह जोर-जोर से चीखने लगीं, लेकिन मौलाना भी चीखने लगा। वह माफी मांगने से इन्कार करता रहा। अंबर सीट से खड़ी हो गईं तो मौलाना ने भी सीट छोड दी। दोनों एक-दूसरे पर चीख रहे थे। एंकर बीच-बचाव की कोशिश करती रहीं और स्टूडियो में मौजूद पैनल के दूसरे पुरुष सदस्य यासिर जिलानी दोनों की तू तू-मैं मैं देखते रहे। माहौल बिगड़ता गया।

बहस कुछ आगे बढ़ी ही थी कि मौलाना एजाज अरशद कासमी ने अंबर जैदी की एक टिप्पणी पर उन्हें ढोंगी औरत कहना शुरू कर दिया। उन्होंने एक और ओछी टिप्पणी की। इस पर अंबर जैदी बिफर गईं और वह मौलाना से माफी मांगने पर अड़ गईं। वह जोर-जोर से चीखने लगीं, लेकिन मौलाना भी चीखने लगा। वह माफी मांगने से इन्कार करता रहा। अंबर सीट से खड़ी हो गईं तो मौलाना ने भी सीट छोड दी। दोनों एक-दूसरे पर चीख रहे थे। एंकर बीच-बचाव की कोशिश करती रहीं और स्टूडियो में मौजूद पैनल के दूसरे पुरुष सदस्य यासिर जिलानी दोनों की तू तू-मैं मैं देखते रहे। माहौल बिगड़ता गया।।

एक समय तो अंबर जैदी टेबल पर सिर रखकर रोने लगीं। वह रोते-रोते यह भी कहती जा रही थीं कि इस आदमी (मौलाना) ने मेरे पिता को गाली दी है। वह मौलाना को चेताने लगीं कि मेरे बाप का नाम मत लेना। मामला हाथापाई तक पहुंच रहा था, लेकिन प्रसारण जारी रहा। जल्द ही एंकर समेत सभी गेस्ट अपनी सीटों से खड़े हो गए। थोड़े समय बाद थोड़ी देर के लिए माहौल तब शांत होता दिखा, जब मौलाना ने कहा कि अंबर के वालिद मेरे वालिद, लेकिन इसके बाद उसने वकील फराह फैज की किसी बात पर उन्हें जानवर कह दिया। इतना सुनते ही तैश में आईं फराह सीट से खड़ी हो गईं और उन्होंने मौलाना पर थप्पड़ जड़ दिया। थप्पड़ खाते ही मौलाना भी होश खो बैठा और उसने फराह को बुरी तरह मारना शुरू कर दिया।

मौलाना के भंयकर रूप धारण करने के बाद एंकर के साथ-साथ अंबर और यासिर फराह को मौलाना की मार से बचाने की कोशिश करने लगे। टीवी चैनल का एक कमर्चारी भी बीच-बचाव को आगे आया। हैरत यह रही कि इतनी बेहूदगी हो जाने के बाद ही कैमरे ने लड़ाई-झगड़े से मुंह मोड़ा। बाद में टीवी चैनल की ओर से कहा गया, बहस के दौरान मौलाना एजाज अरशद कासमी ने तीन तलाक की मुख्य याचिकाकर्ता फराह फैज के साथ मारपीट की। हम इस घटना की कड़ी निंदा करते हैं। उसने यह भी बताया कि पुलिस मौलाना को थाने ले गई है।

fight in live tv show

यह पहली बार नहीं जब किसी टीवी चैनल में बहस के दौरान मारपीट हुई हो। एक बार राधे मां के मसले पर बहस के दौरान एक टीवी चैनल में एक साध्वी ने एक कथित स्वामी को थप्पड़ रसीद कर दिया था। इस पर उसने भी पलटवार किया था। तब भी पुलिस की इंट्री हुई थी। मारपीट भरी इस बहस की इतनी चर्चा हुई थी कि जल्द ही एक अन्य टीवी चैनल ने मारपीट करने वालों को अपने स्टूडियो आमंत्रित कर उनके साथ बहस की थी।

Facebook Comments