जानें क्या है इनके अलग रंग का मतलब,सड़क पर मौजूद मील के पत्थर अलग-अलग रंगों के होते है….

 इन पत्थरों को देखकर क्या आपके दिमाग में कभी कोई ख्याल नहीं आता। क्या कभी आपने सोचा है कि ये माइलस्टोन अगल-अलग रंगों के क्यों होते हैं? क्या कभी इन पत्थरों के रंगों पर गौर किया है? आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इन सभी रंगों का मतलब भी अलग-अलग होता है। चलिए आज हम आपको बताते हैं इन माइलस्टोन के पत्थर का हर रंग क्या कहता है।

 

काला मील का पत्थर

काला मील का पत्थर या काला माइलस्टोन आपको बड़े शहरों में खूब देखने को मिलेगा। अगर आपको काला माइलस्टोन दिखे तो यूं समझें कि आप किसी बड़े शहर की तरफ बढ़ रहे हैं और इन सड़कों की रख-रखाव का जिम्मा शहर के प्रशासन के अंदर है और कहीं पूरी तरह से सफ़ेद माईलस्टोन दिखाई दे तो इसका मतलब भी यही है।

 

पीला मील का पत्थर

पिला माइलस्टोन आपको राष्ट्रीय राजमार्ग का संकेत देता है। इसका मतलब अगर आपको पीला माइलस्टोन दिखाई देता है तो आप नेशनल हाईवे पर सफ़र कर रहे हैं। ये केंद्र सरकार की तरफ से बनाई सड़कों में बने होते हैं और इनकी रख रखाव की जिम्मेदारी केंद की होती है।

 

नारंगी मील का पत्थर

अगर आपको सफ़र के दौरान नारंगी रंग के माइलस्टोन दिख जाए तो आप समझ जाएं कि आप किसी गांव की तरफ बढ़ रहे हैं। इसका मतलब यह हुआ आप प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत बनी सड़क से गुजर रहे हैं जोकि आपको किसी गांव की तरफ ले जाएगी।

 

हरा मील का पत्थर

हरा माइलस्टोन को अपने लम्बे सफ़र के दौरान देखा होगा। इस माइलस्टोन का मतलब है कि आप किसी स्टेट हाईवे से गुजर रहे हैं। जो एक राज्य से दूसरे को राज्य को जोड़ता है। इन सड़कों का निर्माण राज्य सरकार करवाती है।

 

तो इन रंगों का मतलब ध्यान में रखिये और जब भी कोई आपसे पूछे कि इन अगल-अलग रंगों के माइलस्टोन का मतलब क्या होता है तो उन्हें सही जानकारी देने के लिए तैयार रहें।

 

Facebook Comments