रक्षा मंत्रालय की साइट हैक नहीं डाउन की गई थी…

घटना के बाद जांच के लिए वेबसाइट को ब्लॉक कर दिया गया था. आपको बता दें कि साल 2017 से आज दिनांक तक कुल 22207 भारतीय वेबसाइट्स हैक की गई हैं, जिनमे से 114 सरकारी वेबसाइट्स थी.

रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट https://mod.nic.in पर शुक्रवार को चाइनीज कैरेक्टर्स नजर आने लगे. इस पर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, “मिनिस्ट्री की वेबसाइट हैक होने के बाद जरूरी कदम उठाए गए हैं. वेबसाइट जल्द रीस्टोर होगी. आगे ऐसी घटना ना हो इसके पुख्ता इंतजाम किए जाएंगे. ” हालांकि, एनआईसी ने दावा किया कि रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट हैक नहीं हुई, उसमें तकनीकी खराबी आई थी. वहीं, कुछ देर बाद गृह मंत्रालय की वेबसाइट भी डाउन हो गई. देर शाम दोनों ही मंत्रालयों की वेबसाइट सामान्य रूप से काम करने लगीं.

नेशनल साइबर सिक्युरिटी को-ऑर्डिनेटर गुलशन राय ने कहा, “सरकार की वेबसाइट हैक नहीं हुई, न ही कोई साइबर हमला हुआ है, सिस्टम में कुछ हार्डवेयर की समस्या है.” – वहीं एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया है कि होम मिनिस्ट्री की वेबसाइट के सिक्योरिटी को अपग्रेड करने के लिए एहतियात के तौर पर डाउन किया गया है. अब इन दोनों में से क्या सही है ये तो रक्षा मंत्रालय ही जाने. लेकिन भारत सरकार के लिए हैकिंग एक बड़ा सिरदर्द जरूर हो सकती है.

इससे पहले पिछले साल जनवरी में पाकिस्तानी हैकर्स ने एनएसजी की वेबसाइट हैक कर ली थी, वेबसाइट पर भारत विरोधी कमेंट पोस्ट किए गए थे. वहीं फरवरी 2017 में केंद्रीय गृह मंत्रालय की वेबसाइट हैक की गई थी, घटना के बाद जांच के लिए वेबसाइट को ब्लॉक कर दिया गया था. आपको बता दें कि साल 2017 से आज दिनांक तक कुल 22207 भारतीय वेबसाइट्स हैक की गई हैं, जिनमे से 114 सरकारी वेबसाइट्स थी.

Facebook Comments