अटल बिहारी वाजपेयी जी का अंतिम संस्कार होते ही मोदी ने लिया बड़ा कदम

भारत रत्न और पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी का इस दुनिया से चले जाने का सबसे ज्यादा दुख जिसे हुआ होगा, वह इंसान है श्री नरेंद्र मोदी जी.

मोदी और अटल का बाप बेटा जैसा रिश्ता

दोनों का रिश्ता था ही कुछ ऐसा नरेंद्र मोदी जी ने कई बार कहा है, कि अटल बिहारी वाजपेयी जी को वह पिता के समान समझते हैं उनके चले जाने से ऐसा लग रहा है कि पिता का साया सर से उठ गया.

लेकिन, जब बात देश की आती है तो मोदी जी अपनी निजी जिंदगी को किनारे में कर देते हैं. मोदी ‘अटल’ जी के जाने का अच्छे से शौक भी नहीं मना पाए होंगे, लेकिन आम जनता की पुकार उनको खींचकर केरला ले जा रही है.

अटल जी के शव यात्रा में मोदी जी डेढ़ घंटा पैदल चलें

Third party image reference

अटल जी की शव यात्रा में डेढ़ घंटा पैदल चलने के बाद मोदी जी स्मृति स्थल पहुंचे और वहां उनके अंतिम संस्कार के बाद वह सीधे केरला की ओर निकले. जहां पर बारिश और बाढ़ की वजह से करीब 186 लोगों की मौत हो चुकी है.

Third party image reference

आज रात में कोच्चि में रुकने के बाद वह सुबह बाढ़ पीड़ित एरिया का हवाई परीक्षण करेंगे. इससे पहले गृह राज्य मंत्री राजनाथ सिंह 12 अगस्त को केरला का दौरा कर चुके हैं और राज्य को 100 करोड़ की मदद का एलान भी कर चुके हैं.

Third party image reference

मोदी जी के इस जज्बे को हम सलाम करते हैं. जहां कोई भी आम आदमी किसी अपने को खोने के बाद कई दिन तक सामान्य नहीं हो पाता. वहीं मोदी जी देश के प्रति अपनी जिम्मेदारी को पूरा करते हुए, अटल जी को अंतिम विदाई देने के तुरंत बाद देश सेवा में जुट गए हैं.

Facebook Comments