Politics : विधानसभा चुनाव वाले राज्यों से होने लगी पीएम नरेंद्र मोदी की मांग

prime minister Narendra Modi during his Meerut Rally. Express photo by Renuka puri.

लोकसभा चुनाव से पहले होने जा रहे पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में भाजपा के सबसे लोकप्रिय नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर ही रहेगा। चुनाव वाले इन राज्यों से प्रधानमंत्री के ज्यादा से ज्यादा दौरों और सभाओं की मांग होने लगी है।

लोकसभा का सेमीफाइनल माने जा रहे इन चुनावों को देखते हुए भाजपा नेतृत्व अपनी पूरी ताकत झोंक रहा है। खुद प्रधानमंत्री इन राज्यों में लगभग तीन दर्जन सभाएं कर सकते हैं। सूत्रों के अनुसार, सभी राज्यों की इकाइयां चाहती हैं कि प्रधानमंत्री मोदी उनके यहां ज्यादा समय दें। मोदी पार्टी के लिए सबसे प्रभावी प्रचार करेंगे और बड़े राज्यों में तीन-तीन दिन और छोटे राज्यों में दो दिन का समय देंगे। प्रदेश की मांग को देखते हुए मध्य प्रदेश और राजस्थान में प्रधानमंत्री की एक-एक दर्जन सभाएं हो सकती है। इसी तरह छत्तीसगढ़ व तेलंगाना में पांच-पांच सभाओं की संभावना है। मिजोरम में दो सभाएं हो सकती है।

शाह के सबसे ज्यादा दौरे होंगे
पार्टी के चुनाव प्रबंधन से जुड़े एक नेता ने कहा कि कम से कम इतनी सभाएं तो होगी है, लेकिन चुनावों की घोषणा होने और उस समय की परिस्थतियों के अनुसार इनमें बढ़ोतरी हो सकती है। चूंकि अन्य केंद्रीय नेताओं के भी दौरे रहेंगे, इसलिए कार्यक्रम को उसी समय तैयार किया जाएगा। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह इन सभी राज्यों में व्यापक दौरे करेंगे और सबसे ज्यादा सभाएं होगी। अन्य प्रमुख नेताओं में गृहमंत्री राजनाथ सिंह, परविहन मंत्री नितिन गडकरी, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, उमा भारती, सुषमा स्वराज आदि भी कई सभाएं करेंगे। अभियान में कुछ राज्यों के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, देवेंद्र फड़नवीस, त्रिविंद्र रावत आदि भी प्रचार मैदान में उतरेंगे।

राज्यों की व्यूह रचना पर अमल शुरू
भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद इन राज्यों के नेतृत्व और केंद्रीय प्रभारियों ने राज्य की चुनावी व्यूह रचना पर अमल तेज कर दिया है। भाजपा की सत्ता वाले मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ व राजस्थान में पार्टी पहले से ही प्रचार अभियान शुरू कर चुकी है। तीनों राज्यों के मुख्यमंत्री अपने अपने राज्यों में यात्राएं निकल रहे हैं और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी तीनों राज्यों का दौरा कर रहे हैं। अन्य प्रमुख नेता भी विभिन्न क्षेत्रों में बैठकों, सम्मेलनों आदि के जरिए सक्रिय हैं। प्रमुख केंद्रीय मंत्री भी लगातार दौरे कर रहे हैं। तेलंगाना व मिजोरम के लिए भी कार्ययोजना पर काम शुरू कर दिया गया है।

Facebook Comments