‘मोदी सरकार बदलेगी इतिहास’

 मोदी सरकार जल्द ही भारतीय इतिहास को संशोधित करने की तैयारी में है। एनडीटीवी की खबर के अनुसार मोदी सरकार भारतीय इतिहास को दोबारा से लिखने का प्रयास कर रही है।

इस कमेटी के चेयरमैन केएन दीक्षित ने रॉयटर्स से बातचीत के दौरान बताया कि समिति को एक रिपोर्ट पेश करने को कहा गया है, जो प्राचीन भारतीय इतिहास के कुछ पहलुओं को दोबारा से लिखने में सरकार की मदद करेगी।

खबर के मुताबिक समिति का उद्देश्य ऐसे पुरातात्विक साक्ष्यों का इस्तेमाल करना है, जो यह साबित कर सके कि हिंदू ही सबसे प्राचीन लोगों के उत्तराधिकारी हैं और प्राचीन हिंदू शास्त्रों में कोई मनगढ़ंत कथाएं नहीं, बल्कि तथ्य हैं।

एनडीटीवी ने यह भी दावा किया कि कल्चर मिनिस्टर महेश शर्मा ने भी एक इंटरव्यू के दौरान यह माना कि इस समिति का काम भारतीय इतिहास को संशोधित करने की बड़ी योजना का हिस्सा है।

वहीं दूसरी तरफ सरकार ने इतिहास दोबारा लिखे जाने की बात से इनकार किया है। अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार, सरकार ने अलग-अलग क्षेत्र के 17 लोगों को लेकर एक कमेटी बनायी है, जो 12000 साल पहले से लेकर अब तक भारतीय संस्कृति की शुरुआत और उसमें अन्य संस्कृतियों के मिलने के बाद हुए बदलावों का अध्ययन करेगी।

Facebook Comments