बस हादसे में 27 लोगों की जलकर हुई मौत,बस निकली फर्जी….

बताया जा रहा है कि अभी मौत का आंकड़ा और बढ़ सकता है। बताया जा रहा है कि बिहार के मुजफ्फरपुर से दिल्ली जा रही बस बाइक सवार को बचाने के चलते गड्ढे में पलट गई जिसके बाद कुछ पल में ही बस आग की चपेट में आ गई। जिससे झुलस कर यात्रियों की मौत हुई है।

घटना के बाद पूरे इलाके में अफरातफरी का माहौल बन गया। स्थानीय लोगों की मानें तो 5 यात्रियों को जलती हुई बस से निकलते हुए देखा गया। बस में एक सवार यात्री ने बताया की बस आगे गोपालगंज में रुकने वाली थी जहां और 17 यात्री बस में सवार होकर दिल्ली के लिए रवाना होते, लेकिन गोपालगंज पंहुचने से पहले ही बस दुर्घटनाग्रस्त हो गई।

जानकारी के मुताबिक बस उत्तर प्रदेश परिवहन से निबंधित था जो की अवैध रूप से उक्त रूट पर संचालित हो रहा था। आपदा प्रबंधन विभाग ने बस कम्पनी साहिल राज ट्रेवल्स से बस में यात्रा कर रहे यात्रियों की सूचि मांगी है लेकिन घटना के बाद से बस कंपनी के सभी नंबर आउट ऑफ़ रीचबल हुए हो चुके हैं वहीं बस कंपनी के सारे कर्मचारी दफ्तर छोड़ फरार हो चुके हैं। बस कंपनी के मालिक का नाम अभिषेक पांडे बताया जा रहा है। परिवहन विभाग के यात्रीकर अधिकारी अरविंद कुमार जैसल ने बताया कि बस पर लिखा यूपी75एटी-2312 नंबर फर्जी है। बस पर लिखा नंबर मोटर कैब का है। नंबर पर परिवहन विभाग में सचेंद्र कुमार सिंह पुत्र अंगद सिंह निवासी नगला रामसुंदर, इटावा का नाम दर्ज है यह मोटर कैब श्रेणी में दर्ज है और महिंद्रा एण्ड महिंद्रा की गाड़ी है। उन्होंने बताया कि इस नंबर पर टैक्स व फिटनेस पूरा जमा है।

फिलहाल मौके पर राहत-बचाव कार्य जारी है। वहीं सरकार ने सभी मृतकों को 4-4 लाख मुआवजा देने की घोषणा की है। घटना को लेकर सीएम नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने शोक व्यक्त किया है।

 

Facebook Comments