बिना पेट्रोल के चलने वाली बाइकें ला रही भारत की ये 2 कंपनियां….

बजाज ऑटो और TVS इन दोनों कंपनियों ने एथनॉल से चलने वाली बाइकें तैयार कर ली हैं। जल्द ही इन बाइकों का औपचारिक प्रोडक्शन शुरू हो सकता है।

आने वाले कुछ दिनों में आपको मोटरसाइकिल में पेट्रोल डलवाने के झंझट से मुक्ति मिल जाएगी। दरअसल, भारत की दो दिग्गज कंपनियां बिना पेट्रोल से चलने वाली बाइकें लांच करने जा रही हैं।

बता दें कि एक लीटर एथनॉल की कीमत 40 से 45 रुपए प्रति लीटर के बीच है। एथनॉल चावल और गेहूं के भूसे के साथ-साथ फसलों के बचे हुए हिस्से से बनाया जाता है। सबसे खास बात कि एथनॉल माइलेज के मामले में पेट्रोल से ज्यादा अच्छा है और यह पेट्रोल के मुकाबले बहुत ही कम प्रदूषण फैलाता है। इसके अलावा बॉयो-एथनॉल का इस्तेमाल पेट्रोल के मुकाबले काफी किफायती भी है। सरकार खुद चाहती है कि विदेशों से तेल मंगाने का खर्च कम हो और ऐसी गाड़ियों को बढ़ावा दिया जाए जो पूरी तरह बॉयो एथनॉल से चलें।

रोड, ट्रांसपोर्ट और हाईवे मंत्री नितिन गडकरी ने इस बात की पुष्टि की है कि बजाज ऑटो और TVS मोटर कंपनी ने इसे संभव कर दिखाया है। यानी इन कंपनियों ने बिना पेट्रोल के चलने वाली मोटरसाइकिलें तैयार कर ली हैं। नितिन गडकरी ने कहा है कि उन्होंने बड़ी संख्या में ऐसी गाड़ियां बनाने की मंजूरी दी है।

गडकरी ने कहा है कि चावल की भूसी का कोई सही इस्तेमाल नहीं किया जाता है। बल्कि, पंजाब और हरियाणा में इसे खेतों में ही जलाया जाता है, जिससे दिल्ली और इसके आसपास के इलाकों में प्रदूषण होता है। उन्होंने बताया कि 1 टन चावल की भूसी से 280 लीटर एथनॉल निकाला जा सकता है।

दूसरे फ्यूल की तुलना में बायो-एथनॉल बहुत सस्ता है। बायो एथनॉल से गाड़ी चलाना बहुत सस्ता पड़ेगा। साथ ही, बायो एथनॉल को तैयार करना भी ज्यादा महंगा नहीं है। चावल, गेहूं, मक्का की भूसी और गन्ने के बचे छिलकों का इस्तेमाल इस ईंधन को तैयार करने में किया जा सकता है। यह ईंधन पर्यावरण को भी ज्यादा नुकसान नहीं पहुंचाता है। यानी, इससे ज्यादा प्रदूषण नहीं होता है। साथ ही, इस ईंधन से पेट्रोल और डीजल पर हमारी निर्भरता भी कम होगी।

 

Facebook Comments