16 लाख रुपये की फिरौती की मांग पूरी न होने पर गला रेतकर हत्या….

अपराधियों ने फिरौती के लिए उनका अपहरण कर लिया था। परिजन से 16 लाख रुपये की फिरौती मांगी गई थी। नहीं देने पर अपहरणकर्ताओं ने उनकी गला रेतकर हत्या कर दी। साक्ष्य छुपाने के लिए शव को बालूघाट पर फेंक दिया था।पश्चिम सिंहभूम जिले के झारखंड-ओडिशा सीमा स्थित तांतनगर ओपी क्षेत्र के खरकई नदी के रामबेड़ा बालूघाट से बुधवार को कदमा श्याम पथ निवासी जवाहरलाल का शव पुलिस ने बरामद किया।

परिजनों के अनुसार, जवाहरलाल 18 मार्च को यह कहकर घर से निकले थे कि बोकारो जा रहे हैं। इसी बीच, जमशेदपुर से उनका अपहरण कर लिया गया। तांतनगर ओपी पुलिस द्वारा बुधवार को शव बरामद करने के बाद जमशेदपुर से कदमा पुलिस मौके पर पहुंची। उधर, पुलिस ने हत्या के आरोपित छोटे यादव और विजय कुमार समेत दो महिलाओं को हिरासत में लिया है। साथ ही, सूमो विक्टा और रिट्ज कार बरामद किया है। सभी आरोपितों से सिटी एसपी प्रभात कुमार बुधवार देर रात तक पूछताछ करते रहे। जवाहरलाल की पत्नी संध्या देवी ने बताया कि अपहरणकर्ताओं ने 16 लाख रुपये की फिरौती मांगी थी।

पति के मोबाइल से ही अपहरणकर्ताओं ने घर पर फोन किया था। फिरौती नहीं देने पर हत्या की धमकी दी थी। संध्या देवी ने कदमा पुलिस को पति के अपहरणकर्ताओं का नाम और पता बताया था। इस संबंध में प्राथमिकी भी दर्ज कराई थी। इसी आधार पर कदमा थाने की पुलिस कुछ संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ करने के बाद शव को खोजने के लिए ओडिशा के मयूरभंज जिले के तिरिंग थाना तक पहुंची थी।

इसी बीच, पता चला कि झारखंड-ओडिशा सीमा पर तांतनगर ओपी क्षेत्र के खरकई नदी के रामबेड़ा घाट से एक शव बरामद हुआ है। कदमा पुलिस ने तांतनगर ओपी पहुंचकर जवाहरलाल के शव की पहचान की। फिर शव को लेकर जमशेदपुर लौट आई।

कदमा पुलिस की मानें तो वह खुद को कारपेंटर बताता था, जबकि सच्चाई यही सामने आई कि उसके ग्रुप में कई ऐसे लोग शामिल हैं जो जुआ अड्डा ग्रामीण क्षेत्रों के हाट बाजार में संचालित करते हैं। साथ ही, स्क्रैप नीलामी में माल दिलवाने या अन्य कोई कार्य करवा देने की एवज में मध्यस्थता के रूप में रुपये की वसूली करना था। गिरोह में कुछ महिलाएं भी हैं। जवाहर लाल की हत्या में पांच लोग पकड़े गए हैं। आरोपितों से पूछताछ जारी है।

जानकारी मिली है कि मृतक बोकारो, ओडिशा तिरिंग समेत कई इलाके मे ग्रामीण हाट बाजार में जुआ संचालन करवाता था। हत्या आपसी रंजिश में की गई है।

Facebook Comments