भारतीय महिला हॉकी टीम ने मलेशिया को हराया, बढ़े एक कदम और आगे

लेकिन भारत ने यह मैच जीतकर अभी भी अपने आपको मुकाबले में कायम रखा है. स्मरण रहे कि इसके पहले भारत की  वेटलिफ्टर  संजीता चानू ने 53 किलोग्राम की श्रेणी में स्वर्ण पदक जीता था इसके अलावा भारत को दो पदक और मिले थे.

21वें कॉमनवेल्थ गेम्स के पहले मैच में भारतीय टीम को वेल्स के हाथों मिली हार के बाद आज भारतीय हॉकी टीम ने जबरदस्त वापसी करते हुए आज दूसरे दिन शुक्रवार को पूल-ए के अपने दूसरे मुकाबले में मलेशिया को 4-1 से हरा दिया .आज की जीत टीम का उत्साह बढ़ाएगी.

आपको बता दें कि गोल्ड कोस्ट हॉकी सेंटर पर खेले गए इस मैच में भारत के लिए गुरजीत कौर ने छठे और 39वें, रानी रामपाल ने 55वें मिनट और 59वें मिनट में लालरेमिसियामी ने गोल किए. वहीं मलेशिया के लिए नूरानी राशिद ने 38वें मिनट में गोल किया. इस रोमांचक मैच में आखिर जीत का सेहरा भारत के सिर बंधा.

गौरतलब है कि 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स के पहले ही दिन भारत को हार का सामना करना पड़ा था.अपने पहले ही मैच में वेल्स से 3-2 से हार का सामना करने वाली भारतीय टीम को इस मुकाबले को जीतना बेहद जरूरी था. अगर भारतीय टीम यह मुकाबला जीतने में कामयाब नहीं होती तो वह पदक की दौड़ से बाहर हो जाती.लेकिन भारत ने यह मैच जीतकर अभी भी अपने आपको मुकाबले में कायम रखा है. स्मरण रहे कि इसके पहले भारत की  वेटलिफ्टर  संजीता चानू ने 53 किलोग्राम की श्रेणी में स्वर्ण पदक जीता था इसके अलावा भारत को दो पदक और मिले थे.

Facebook Comments