बहराइच : मौत का सच जानने के लिए कब्र से निकाली गई महिला की लाश

विवाहिता की 24 दिन पूर्व संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। मायके वालों ने हत्या का आरोप लगाया था। कोर्ट के आदेश पर मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में कब्र से लाश खोदी गई।
नवाबगंज थाना क्षेत्र के जमादार गांव निवासी 20 वर्षीय तबस्सुम पत्नी शकील खां की 11 अगस्त को संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। शकील तीन महीने से मुम्बई में रहकर मजदूरी कर रहा था। घर पर बूढ़े मां बाप ही थे। 11 अगस्त को सास ससुर उठे तो देखा कि तबस्सुम चारपाई पर मृत पड़ी है।
उन्होंने मायके वालों को बुलाकर पंचनामें के बाद उसे दफना दिया था। जब मृतका के पिता श्रावस्ती जिले के मल्हीपुर के ग्राम दमोदरा निवासी ललऊ खां को लगी जो सऊदी अरब में है। उसने अपनी पत्नी से कोर्ट की शरण लेने को कहा। मृतका की मां ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। कोर्ट के आदेश पर मजिस्ट्रेट केशव प्रसाद की मौजूदगी में सोमवार को कब्र से लाश खोदी गई। मृतका की मां कुच्ची बेगम का आरोप है कि उसकी बेटी के ससुराली जन काफी दिनों से चार पहिया वाहन की मांग कर रहे थे। मांग पूरी न होने पर सास, ससुर, ननद व एक अन्य ने मिलकर चाकू से मारकर उनकी बेटी की हत्या कर दी।
सीओ विजय प्रकाश ने बताया कि कोर्ट के आदेश पर लाश कब्र से खोदवाई जा रही है। थानाध्यक्ष विनोद कुमार यादव ने बताया कि चार लोगों के खिलाफ तहरीर मिली है, पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद केस दर्ज किया जाएगा।

Facebook Comments