निफा वायरस ने ले ली आठ लोगों की जान….

 निफा वायरस इंसानों के साथ साथ जानवरों को भी अपने चपेट में ले लेता है. फ्रूट बैट्स के जरिए ये इंसानों और जानवरों पर आक्रमण करता है. 1998 में पहली बार मलेशिया के कांपुंग सुंगई निफा में इसके मामले सामने आए थे. 

भारत में एक खतरनाक बीमारी ने अपने पैर पसार लिए है. जिसके चलते केरल के कोझीकोड में रहस्यमय बीमारी से मरने वालों की संख्या आठ हो चुकी है. केरल सरकार ने इस संबंध में एनसीडीसी और एनआईडी से जुड़े लोगों को प्रभावित इलाके में तत्काल तैनाती की मांग की है. इस मामले में केरल के स्वास्थ्य मंत्री का कहना है कि उन्होंने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा से एनसीडीसी की टीम को कोझीकोड भेजने की अपील की थी.

इन सबके बीच केरल के कोझीकोड में निफा वायरस के हमले की पुष्टि हो चुकी है. पुणे विरोलॉजी इंस्टीट्यूट ने तीन सैंपल्स में निफा वायरस के होने की खबर पर मुहर लगा दी है.  इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने इस संबंध में एक कमेटी गठित की है. जो बीमारी की तह तक जाने में जुटी है. इसके साथ वायरस की जद में ज्यादा लोग न आ सके इसके लिए प्रिवेंटिव उपाय किए जा रहे हैं.

 

Facebook Comments