साहित्य नोबेल पुरस्कार नहीं दिए जाने का फैसला लिया गया आज हुई स्वीडिश एकेडमी की बैठक में …….

अब इस बात पर से पर्दा हट चूका है कि इस साल साहित्य का नोबेल पुरस्कार का क्या होगा. आज हुई स्वीडिश एकेडमी की बैठक में साहित्य का नोबेल पुरस्कार नहीं दिए जाने का फैसला लिया गया. देने वाली संस्था सेक्स स्कैंडल में फंस गई है जिसके बाद 2018 में साहित्य का नोबेल देने का फैसला स्थगित कर दिया गयाा है. अब पुरस्कार 2019 में दिया जाएगा.

स्वीडिश एकेडमी ने इस बात की जानकारी आज स्‍टॉकहोम में एक साप्ताहिक बैठक में दी. सेक्स स्कैंडल ने दुनिया में सबसे ज्यादा सम्मान और आदर के साथ देखे जाने वाली इस एकेडमी को शर्मसार कर दिया. जिसके बाद एकेडमी ने कहा कि ”यौन उत्पीड़न के आरोपों और फाइनेंशियल अपराधों के घोटालों के बाद अभी एकेडमी नोबेल पुरस्कार के लिए विजेता चुनने की स्थिति में नहीं है”.

वहीं एकेडमी के सेक्रेटरी एंडर्स ओल्सन ने कहा “हमें अगले पुरस्कार विजेता घोषित होने से पहले लोगों का भरोसा जीतना होगा और इसके लिए कुछ समय की जरूरत होगी”. दअसल फ्रेंच फोटोग्राफर जीन क्लाउड अरनॉल्ट के कथित सेक्सुअल एब्युज को लेकर स्वीडिश एकेडमी आलोचनाओं के घेरे में है. अरनॉल्ट की शादी एकेडमी के एक पूर्व सदस्य के साथ हुई है. उनका नाम कैटरीना फ्रॉस्टेंसन हैं और वह कवयित्री हैं. जीन क्लाउड अरनॉल्ट पर सेक्सुअल एब्युज आरोप लगने के बाद एकेडमी ने फैसला लिया कि  इस साल पुरस्कार नहीं दिया  जाएगा क्योंकि एकेडमी के कुछ सदस्य यह पुरस्कार को लेकर चिंतित हैं और वे इसके लिए स्थिति को सही नहीं बता रहे हैं.

Facebook Comments