पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान आज तेल कंपनियों के अधिकारियों के साथ आज बैठक करेंगे…..

  26 मई को मोदी सरकार अपने चार साल पूरे कर रही है.इस अवसर पर ईंधन की लगातार बढ़ती कीमतें जश्न को प्रभावित कर सकती है.इसलिए सरकार सभी विकल्पों पर विचार कर रही है .इसमें एक्साइज और वैट में कटौती के विकल्प पर भी विचार किया जा सकता है.सरकार भाजपा शासित राज्यों में वैट कटौती का निर्णय लेकर भी लोगों को राहत पहुंचा सकती है.

 

गौरतलब है कि ईंधन की कीमतों में वृद्धि का मुख्य कारण एक्साइज और वैट का टेक्स ही है.यदि जन हित में इसमें कटौती का कोई फैसला लिया जाता है तो आमजन को बहुत राहत मिल जाएगी.कल मंगलवार को बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने भी आश्वस्त किया है कि सरकार इस मामले को बहुत गंभीरता से ले रही है.उधर, पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान आज तेल कंपनियों के अधिकारियों के साथ आज बैठक करेंगे.

तेल की कीमतों में लगातार लग रही आग से चिंतित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मामले में हस्तक्षेप करते हुए बुधवार को सभी वरिष्ठ मंत्रियों की बैठक बुलाई है. कैबिनेट बैठक के बाद तुरंत इस मामले पर उच्च स्तरीय बैठक होने की संभावना जताई गई है. ईंधन की कीमतों को लेकर सरकार कोई फार्मूला पेश कर सकती है.

 

 

Facebook Comments