80 साल का ये बुजुर्ग बच्चों के लिए बनाना भगवान ….

ये शख्स अब तक 24 लाख से ज्यादा बच्चों की जान बचा चुका है। अगर जेम्स न होते तो ये बच्चे पैदा होने के साथ ही मर जाते।डॉक्टरों के मुताबिक, जेम्स का खून बच्चों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। उनके खून में एक खास विशेषता है, जो किसी भी आम इंसान के खून में नहीं होती है। यही वजह है कि उनके हाथ को ‘गोल्डन आर्म’ के नाम से पुकारा जाता है।

 

जेम्स हैरिसन के खून में एक खास तरह की यूनिक एंटीबॉडी मौजूद है। इसे एंटी-डी कहा जाता है। ये एंटी बॉडी गर्भ में पल रहे बच्चों को ब्रेन डैमेज या दूसरी घातक बीमारी से लड़ने की ताकत देता है। डॉक्टर्स बताते हैं कि पिछले 60 सालों में जेम्स के ब्लड डोनेशन की वजह से लाखों बच्चों की जान बच सकी। क्योंकि अगर उनका ब्लड नहीं होता तो ये बच्चे गर्भ में ही मर जाते।

 

पिछले साठ सालों में जेम्स ने 1200 बार ब्लड डोनेट किया है। लेकिन अब डॉक्टर्स ने उन्हें ऐसा करने से मना कर दिया है। डॉक्टरों का कहना है कि जेम्स की उम्र अब काफी हो गई है। अगर उनके शरीर से अब और खून निकाला गया तो ये उनके शरीर को काफी नुकसान पहुंचाएगा। ऐसे में जेम्स खून न दे सकने की विवशता पर अब भावुक हो जाते हैं। उनकी वजह से ही 1964 से अब तक करीब 24 लाख बच्चों की जान बचाई जा चुकी है।

Facebook Comments