चौथे दिन बैंक के सामने ही तोड़ा दम,3 दिन से पैसों का इंतजार कर रही थी महिला….

 इन दिनों देश के कई राज्यों में कैश संकट चल रहा है। कई जगह एटीएम से पैसे नहीं निकल रहे हैं जिस कारण लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं इसी परेशानी को जूझ रही एक वृद्ध महिला ने बैंक के सामने ही अपना दम तोड़ दिया। बताया जा रहा है कि वह बिमार महिला पिछले चार दिनों से बैंक के चक्कर काट रही थी लेकिन पैसे न मिलने के कारण उसकी मौत हो गई।

जानकारी के अनुसार रूपौली के मैनी संथाल टोला की रहने वाली नूरजहां खातून काफी समय से बिमार चल रही थी, उन्हे इलाज के लिए पैसों की जरूरत थी। जिस कारण वह पिछले चार दिनों से बैंक के चक्कर काट रही थी लेकिन अकसर उन्हे खली हाथ लौटा दिया जाता था। वीरवार को भी नूरजहां सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया के बाहर अपनी बारी का इंतजार कर रही थी। इस दौरान उनके बेटे ने कैशियर से 17,000 रुपए देने का आग्रह किया लेकिन वह नहीं माना। इसी बीच महिला की हालत बिगड़ गई और उसने बैंक के सामने ही दम तोड़ दिया।

वृद्ध महिला की मौत से गुस्साए लोगों ने शव को बैंक के सामने रखकर विरोध प्रदर्शन किया। करीब डेढ़ घंटे बाद रुपौली थानाध्यक्ष मौके पर पहुंचे और उन्होंने लोगों को समझा बुझाकर मामले को शांत किया। मृतका के बेटे लाल मोहम्मद ने बताया कि उन्हे अपनी मां का इलाज करवाना था लेकिन उन्हे कैश समय पर नहीं दिया गया। उन्हे पिछले चार दिनों से यह कहकर वापस लौटा दिया जाता था कि कैश नहीं है बैंक की लापरवाही से उनकी मां की मौत हो गई।

Facebook Comments