केंद्रीय मंत्री : पद्मावती से बुरा हाल है देश में SC/ST एक्ट की वजह से

इस दौरान भड़की हिंसा में 10 लोगों की मौत हो गई. इस मामले में केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है. हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने इसपर तुरंत सुनवाई से इनकार कर दिया है.

SC/ST एक्ट में संशोधन के खिलाफ सोमवार को देशभर में भड़की हिंसा को लेकर केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत का मानना है कि हिंसा जल्द ही खत्म हो जाएगी. सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री गहलोत के मुताबिक, जैसे ही प्रदर्शनकारियों को यह अहसास होगा कि इसमें विरोध करने जैसा कुछ नहीं है, वो हिंसा रोक देंगे. केंद्रीय मंत्री ने इस हिंसा की तुलना संजय लीला भंसाली की विवादित फिल्म ‘पद्मावत’ की रिलीज के दौरान भड़की हिंसा से की है. उन्होंने कहा, “जैसे ही राजपूतों ने फिल्म देखी, उन्हें मालूम चला कि इसमें रानी पद्मावती का खराब चित्रण नहीं किया गया है और फिर उन्होंने प्रदर्शन बंद कर दिए.”

‘पद्मावत’ से तुलना करते हुए उन्होंने कहा कि दलितों को जल्द ही अहसास होगा कि वे पीएम नरेंद्र मोदी इस मामले में उनके साथ हैं. बता दें कि SC/ST एक्ट में संशोधन के खिलाफ सोमवार को विभिन्न संगठनों ने भारत बंद बुलाया था. इस दौरान भड़की हिंसा में 10 लोगों की मौत हो गई. इस मामले में केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है. हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने इसपर तुरंत सुनवाई से इनकार कर दिया है.

उन्होंने कहा कि SC/ST बड़ी संख्या बीजेपी में शामिल हैं. अगर हम दलित बैकग्राउंड से संसद और विधानसभा के प्रतिनिधियों की संख्या देखें तो मालूम चलेगा कि बीजेपी को उनका सपोर्ट है. कुछ राजनीतिक पार्टियां सोचती हैं कि दलित उनके साथ हैं. उन्होंने इस बारे में झूठी कहानियां और भ्रांतियां फैलाई हैं, लेकिन तथ्य यह है कि दलित समाज हमारे साथ है. दूसरी पार्टियां कितनी ही कोशिश कर लें, सच दबाया नहीं जा सकता.

Facebook Comments