इस महिला नेता के आरोपों से हिल गई थी पाकिस्तान की राजनीति

 इमरान खान अब तो पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बन चुके हैं। उन पर कुछ समय पहले उनकी पार्टी की एक नेता ने गंभीर आरोप लगाएथे। आरोप लगाने वाली महिला नेता का नाम था आयशा गुलालई। उसने कहा था कि इमरान रैली से पहले महिला नेताओं के साथ बिस्तर पर सोते हैं।

बता दें कि वर्तमान में भी उन्होंने इमरान के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है लेकिन जनता के गुस्से का शिकार हो रही हैं। जी हां, पाकिस्तान में नेताओ पर जूते फेंकने का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस बार इसका शिकार पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ की पूर्व नेता आयिशा गुलालाई बनी है।

आयशा गुलालई पर पाकिस्तान के बहावलपुर में उनके होटल के बाहर कुछ महिलाओं ने अंडे और टमाटर फेंके। पिछले हफ्ते ही जामिया न्यूमैआ विद्यालय के दौरे के दौरान पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के उपर जूता फेंकने के अलावा पाकिस्तान के मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) सम्मेलन के दौरान विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ पर स्याही फेंकने की घटना हुई है। जिओ टीवी की रिपोर्ट के अनुसार, इमरान खान के खिलाफ उत्पीड़न और भ्रष्टाचार के आरोप लगाने वाली गुलालाई के उपर शहर में उनके होटल के बाहर हमला किया गया।

वह सुबा बहावलपुर बहहिली तहरीक (एसबीबीटी) द्वारा आयोजित एक समारोह में भाग लेने के लिए शहर में थी। गुलालाई पहले इमरान खान की पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ से नेशनल एसेंबली की सदस्य चुनी गईं थीं। उन्हें महिलाओं के लिए रिज़र्व्ड सीट से चुना गया था। गुलालाई ने इमरान खान पर भ्रष्टाचार के साथ-साथ आरोप लगाया था कि वो उन्हें आपत्तिजनक मैसेज भेजते थे। हालांकि गुलालाई ने अपने खिलाफ नारे लगाने वाली तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी की महिलाओं कार्यकर्ताओं के बारे में कहा कि उनकी गलती नहीं है वो मेरी बहनें हैं। गुलालाई ने 2012 में तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी ज्वाइन किया था और पिछले साल अगस्त 2017 में पार्टी छोड़ दिया।

Facebook Comments