कश्मीरी युवकों को पाकिस्तान जारी कर रहा है वीजा, ISI की बड़ी साजिश का खुलासा

खुफिया एजेंसियों की एक रिपोर्ट के मुताबिक कश्मीर में पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई की एक नई साजिश का खुलासा हुआ है. कश्मीर में आतंकियों को मुठभेड़ में मारने की घटनाओं से घबराई आईएसआई अब कश्मीरी युवकों को वीज़ा के जरिये पाकिस्तान बुला कर उन्हें भारत पर आतंकी हमले की ट्रेनिंग देने में लगी हुई है.

गृह मंत्रालय को भेजे एक रिपोर्ट में जांच एजेंसियों ने कुछ गिरफ्तार आतंकियों से हुई पूछताछ के आधार पर आईएसआई की नई साजिश का भंडाफोड़ किया है. सरकार को भेजे अपने रिपोर्ट में जांच एजेंसियों ने कहा है कश्मीर में मौजूद आतंकी अपने संगठन में आतंकियों की भर्ती के लिए नेटवर्क बनाया हुआ है.

कैसे तैयार होते हैं आतंकी
कश्मीर में मौजूद आतंकी सबसे पहले उन युवकों की लिस्ट तैयार करते हैं जिन्हें आसानी से अपने ग्रुप में भर्ती किया जा सकता है. तैयार लिस्ट को पाकिस्तान भेजा जाता है जिसके बाद ऐसे कश्मीरी युवकों पाकिस्तानी वीजा मुहैया कराया जाता है जो पाकिस्तान आकर आतंकी ट्रेनिग लेना चाहते हैं.

पाकिस्तान में इन कश्मीरी युवकों को पाक अधिकृत कश्मीर में मौजूद आतंकी कैंप में भेजा जाता है जहां पर फिदाईन हमलों से लेकर हथियार चलाने की ट्रेनिंग दी जाती है. ट्रेनिंग पूरी हो जाने के बाद इन्हें वापस भारत भेजा जाता है और फिर कश्मीर में मौजूद आतंकियों का नेटवर्क इन्हें हथियार मुहैया कराता है.

क्यों बनाई वीजा वाली प्लानिग?
भारत पाकिस्तान सीमा पर कड़ी चौकसी होने की वजह से आतंकियों के लिए सीमा पार करना इतना आसान नहीं है. अक्सर आतंकियों के ग्रुप भारत में दाखिल होने के दौरान सुरक्षा बलों की जवाबी कारवाई में मारे जाते हैं जिससे आतंकियों की भर्ती में आईएसआई को काफी दिक्कतें आती हैं.

आईएसआई में बौखलाहट
खुफिया एजेंसियों के मुताबिक आईएसआई भारत पर बड़े हमले न कर पाने की वजह से बौखलाहट में हैं और वह जैश-ए-मोहम्मद के साथ मिलकर समुद्र के रास्ते भारत पर एक और बड़े आतंकी हमले की फिराक में है. यही नहीं पाकिस्तान के बहावलपुर में जैश के आतंकियों को पानी में गहरे गोते लगाने और तैरने की विशेष ट्रेनिंग दी जी रही है. एजेंसियों के मुताबिक आने वाले दिनों में आतंकी नौसेना के अड्डों या संपत्ति को निशाना बना सकते हैं.

Facebook Comments