अगर आप पतंजलि के प्रोडक्ट यूज कर रहे,तो हो जाएँ सावधान….

आप शुद्धता और विश्वास को लेकर पतंजलि प्रोडक्ट्स यूज कर रहे होंगे लेकिन बाजार में फर्जी उत्पादों पर पतंजलि के लेबल लगाकर बेचे जा रहे हैं।हरिद्वार के जगजीतपुर स्थित एक अस्पताल में पतंजलि समूह के लेबल लगाकर फर्जी उत्पाद बेचे जा रहे थे। इन फर्जी उत्पादों को दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश पर एक टीम ने कब्जे में ले लिया। इन उत्पादों को न्यायालय के सामने पेश किया जाएगा। इस बात की पुष्टि कनखल पुलिस ने की है। ये प्रोडेक्ट 2015 से बेचे जा रहे थे।

योग गुरू बाबा रामदेव के इस पतंजलि समूह के उत्पादों के लेबल को फर्जी उत्पादों पर चिपकाया जा रहा था। खबर है कि पतंजलि फूड पार्क की लीगल ईकाई की ओर से दिल्ली हाईकोर्ट में एक वाद दायर करके इस बारे में शिकायत की गई थी। शिकायत में कहा गया था कि जगजीतपुर स्थित एक अस्पताल में पतंजलि का लेबल लगाकर उत्पादों को बेचा जा रहा है।

दिल्ली हाईकोर्ट के लीगल कमिश्नर की अगुवाई में एक टीम इसकी जांच को लेकर जगजीतपुर पहुंची और संबंधित अस्पताल पर छापा मारा। यहां कई उत्पादों कब्जे में लेकर टीम ले गई। कनखल के थाना प्रभारी अनुज सिंह ने बताया कि दिल्ली से आई टीम सामान को जब्त कर अपने साथ ले गई है। सुरक्षा के लिहाज से पुलिस भी इस दौरान मौजूद रही।

बता दें कि बाबा रामदेव ने स्वदेशी का पथ अपनाया और पतंजलि आयुर्वेद की स्थापना कर लोगों के सामने एक स्वदेशी ब्रांड को विकल्प के रूप में प्रस्तुत किया वहीं दूसरी ओर विभिन्न एफएमसीजी कंपनियों को टक्कर दी।पतंजलि आयुर्वेद ने सबसे पहले औषधियों के निर्माण से शुरुआत की थी। धीरे-धीरे पतंजलि आयुर्वेद खाने-पीने की चीजों से लेकर कांतिवर्धक उत्पादों का निर्माण भी करने लगी है।

पतंजलि आयुर्वेद 45 तरह के कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स बनाती है जिसमें शैंपू, साबुन, लिप बाम, स्किन क्रीम आदि हैं। किराना के भी बहुत से उत्पादों का निर्माण पतंजलि आयुर्वेद द्वारा किया जाता है। यह कंपनी 30 अलग-अलग तरह के खाद्य पदार्थ तैयार करती है जैसे- सरसों तेल, आटा, घी, बिस्किट, मसाले, तेल, चीनी, जूस, शहद इत्यादि। दूसरी कंपनियों की तुलना में पतंजलि आयुर्वेद के उत्पाद सस्ते हैं।

 

Facebook Comments