बेटियों को खुलकर बताये मासिक धर्म के बारें में….

आमतौर पर बेटियां घर में पीरियड्स की बात करने में झिझकती हैं, जिसके कारण उन्हें कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में मां का फर्ज है कि वह अपनी बेटी को पहले पीरियड्स के लिए तैयार करें। 11 साल की उम्र के बाद लड़कियों के शरीर में हार्मोंस बदलाव आते हैं और इसी उम्र में उन्हें पीरियड्स भी आने लगते हैं। इससे पहले ही आप अपनी बेटी को सही जानकारी देकर उसे पहले पीरियड्स के लिए तैयार कर सकती हैं।
पीरियड्स के लिए ऐसे करें अपनी बेटी को तैयार
1 दोस्त की तरह करें बात
एक मां की तरह नहीं, बल्कि आप उसे एक दोस्त की तरह इसके बारे में बताएं। आप बेटी के साथ अपना अनुभव भी शेयर करें। इससे वह पीरियड्स के बारे ज्यादा अच्छे से समझ सकती है।

2. गलतफहमियों को करें दूर
अक्सर लड़कियां दूसरी लड़कियों या किसी ओर से मासिक धर्म से जुड़ी गलत जानकारी को ही सही मान लेती हैं। ऐसे में आप उन्हें सही जानकारी दें और उनकी इस गलतफहमी को दूर करें। आप चाहें तो उनकी बात किसी महिला डॉक्टर से भी करवा सकती हैं।
3. उनके सवालों के जवाब
उनसे बात करते समय आप खुद को भी शांत रखें और उनके सवालों के जवाब आराम और प्यार से दें। कई बार बेटी को एक बार समझ न आने पर आप गुस्सा हो जाती है लेकिन ऐसा करने से आपकी बेटी कभी आपसे इस बारे में कोई बात शेयर नहीं करेगी।

 

4. खुद करने दें सामना
आप अपनी बेटी को इस हालात में डील करने के बारे में बताएं। ऐसी परिस्थिति आने पर आप उन्हें खुद डील भी करने दें, ताकि उन्हें आगे चलकर कोई प्रॉब्लम न हों। इसके अलावा पीरियड्स के दौरान बेटी को खूब पानी पीने की सलाह दें।
5. सही और पूरी जानकारी
मां को चाहिए कि वह बेटी को पीरियड्स से जुड़ी सही और पूरी जानकारी दें। इसके लिए आप सैनिटरी नैपकिन के विज्ञापन से भी बात शुरू कर सकती हैं। बेटी को बेसिक हाइजीन की जानकारी के साथ नैपकिन का इस्तेमाल करना भी बताएं। इसके अलावा आप उन्हें इस दौरान इंफैक्शन से बचने के लिए साफ-सफाई के तरीके भी बताएं।

PunjabKesari

Facebook Comments