क्या आप जानतें हैं हम खाने के साथ 100 से ज्यादा प्लास्टिक के कण kha जाते हैं….

21 Aug 2012 --- family at home eating --- Image by © A. Green/Corbis
हमारे खाने को लेकर जो रिसर्च हुआ है, उस पर आप भी हैरान हो सकते हैं, क्योंकि ये रिसर्च ब्रिटेन में किया गया है। जिसके मुताबिक, हम हर बार खाना खाने के साथ ही 100 से ज्यादा प्लास्टिक के छोटे-छोटे कण भी निगल जाते हैं, हमें पता भी नहीं चलता।

रिसर्च में इस बात का खुलासा किया गया है। कि नरम सामान और सिंथेटिक कपड़े से निकलने वाले पॉलिमर घरेलू धूल में मिल जाते हैं, जो हमारे खाने की प्लेटों पर जमा हो जाते हैं। ब्रिटेन स्थित हेरियट-वॉट यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने तीन घरों में खाने के टेबल पर रखे चिपचिपे धूल लगे कुछ पेट्री बर्तनों की जांच में यह पाया। 20 मिनट तक चले डिनर के अंत में पेट्री डिशेज में प्लास्टिक के 14 कण पाए गए, जो 114 प्लास्टिक फाइबर के बराबर होता है। यह औसतन हर डिनर की थाली में पाए जाते हैं।

 

हेरियट-वॉट यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों के मुताबिक, एक औसत व्यक्ति साल में सामान्य तौर पर खाते समय 68 हजार 415 खतरनाक माने जाने वाले प्लास्टिक फाइबरों को निगल जाता है। हेरियट-वॉट यूनिवर्सिटी के प्रफेसर टेड हेनरी ने कहा, कि हम नहीं जानते कि ये फाइबर कहां से आते हैं, लेकिन लगता है यह हमारे घर के भीतर और बाहरी वातावरण में ही मौजूद रहते हैं।’

 

रिसर्चरों के मुताबिक, घर के बने खाने में पाए गए प्लास्टिक फाइबर खाना बनाने में इस्तेमाल होने वाले अनाज या खाना बनाने के वातावरण से नहीं आते बल्कि घर में मौजूद धूल कण से आते हैं। खाना खाने की प्रक्रिया के दौरान मनुष्य इस प्लास्टिक फाइबर से भरी धूल को निगल जाते हैं, साथ ही हवा में हर वक्त मौजूद रहने की वजह से सांस के जरिए भी यह हमारे शरीर में प्रवेश करता है।

 

रिसर्चर जूलियन किर्बी के मुताबिक, घर के अंदर मौजूद धूल और वह हवा जिसमें हम सांस लेते हैं उसमें पाए जाने वाले प्लास्टिक माइक्रोफाइबर्स कार टायर, कार्पेट, सॉफ्ट फर्निशिंग और जानवरों के ऊन से बने कपड़ों के माध्यम से हमारे घर में प्रवेश कर जाते हैं। इन चीजों का इस्तेमाल करने के दौरान इनमें से लगातार प्लास्टिक के सूक्ष्म कण वातावरण में निकलते रहते हैं।

 

Facebook Comments