चूहामार दवा का धोखे में सेवन कर लेने से युवक की हालत गंभीर….

एक गांव में शासकीय प्राथमिक स्कूल के दो शिक्षकों ने शनिवार को नशे की हालत में कक्षा पांचवीं की छात्रा के साथ ज्यादती की। मासूम छात्रा ने धनौरा पुलिस को आपबीती बताई। घंसौर एसडीओपी भावना मरावी ने बताया कि छात्रा की शिकायत पर रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार शासकीय प्राथमिक शाला में पदस्थ शिक्षकों ने स्कूल की छूट्टी करने के बाद स्कूल को बंद करने के लिए जिसके पास स्कूल की चांबी रहती है उक्त छात्रा को स्कूल बुलाया। इसी दौरान नशे में धुत्त दोनों शिक्षकों ने उक्त मासूम छात्रा को स्कूल के कमरे में बंद करके उसके साथ ज्यादती करने का प्रयास करने लगे। तभी छात्रा की चीख सुनकर समीपस्थ कोटवार के भाई ने स्कूल जाकर देखा तो शिक्षकों की करतूत देखकर सन्न रह गया। उसने तत्काल बंद दरवाजा तोड़ा और अंदर घुसा। इसी बीच मासूम छात्रा अपने आपको दोनों शिक्षक से छुड़ाकर वहां से भागी और गांव के नाले के पास जा छुपी। कोटवार के भाई व परिजन ने डरकर नाले के पास छुपी रोती हुई बच्ची को घर लेकर पहुंचे तथा धनौरा थाना में रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने मामला पंजीबद्ध कर छात्रा की एमएलसी जांच के लिए अस्पताल भेज दिया है।

शिक्षक का नाम पन्नालाल मरावी निवासी सुनवारा बताया जा रहा है। वहीं एक अन्य शिक्षक दूसरे गांव से स्कूल आता है जो मौका देख फरार हो गया है। जिसकी पतासाजी में पुलिस जुटी है।

सिवनी चूहामार दवा का धोखे में सेवन कर लेने से युवक की हालत गंभीर हो गई। यह घटना डूंडासिवनी थाना अंतर्गत गांव नरेला की है। गांव नरेला निवासी 18 वर्षीय युवक ने घर में रखी चूहामार दवा का धोखे में सेवन कर लिया। जिससे उसकी हालत बिगड़ गई। मामले की जानकारी लगने पर परिजन उसे इलाज के लिए लेकर जिला अस्पताल पहुंचे।

Facebook Comments