पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ इटावा में ……

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार त्रिपाठी ने बताया कि इटावा शहर में शनिवार रात बिजली जाने पर वाहनों की चेकिंग की जा रही थी। इसी बीच में शास्त्री चौराहे से मोटरसाइकिल सवार 2 संदिग्धों के भागने के बाद पुलिस को अलर्ट किया गया। दोनों बदमाशों को पकड़ने के लिए कोतवाली पुलिस के साथ-साथ में स्वाट टीम को भी लगा दिया। मोटरसाइकिल सवार दोनों संदिग्धो को पुलिस ने टीटी चौराहे के पास में घेर लिया। खुद को घिरा देख बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग करनी शुरू कर दी। पुलिस ने भी अपने बचाव में गोली चलाई जिसमें दोनों बदमाश घायल हो गए, जिन्हे गिरफ्तार कर लिया गया। इस बीच बदमाशों की गोली एक कांस्टेबल घायल हो गया।

उन्होंने बताया कि मुठभेड़ में पकड़े गए बदमाशों में जितेंद्र और उसका साथी रेनू शामिल है। भर्थना इटावा का रहने वाले 25 हजार के इनामी जितेंद्र नाम पर 8 आपराधिक मामले दर्ज हैं। इनमें से 4 में इसकी तलाश की जा रही थी। इसके कब्जे से फैक्ट्री में राइफल के अलावा एक डीबीबीएल बंदूक बरामद की गई है। इसके साथी रेनू के खिलाफ कुल 20 अपराधिक मामले दर्ज है, जिनमें 3 मामले लूट और वसूली के है। दोनों बदमाशों के खिलाफ दिल्ली, फतेहगढ़, औरैया, मैनपुरी, इलाहबाद, इटावा में मामले दर्ज है जब कि यह अपराधी 4 साल तिहाड़ जेल में कैद रह चुका है।

इटावा की एसएसपी अशोक कुमार त्रिपाठी के निर्देशन मे इटावा में यह छठी मुठभेड़ है जिसमें पुलिस को खासी कामयाबी मिली हुई है। उन्होंने बताया कि प्रमुख मुठभेड़ों में 29 अप्रैल को भर्थना मुठभेड़ में 25000-25000 के इनामी बदमाशो को जबकि 6 अप्रैल को बकेवर इलाके के अलियापुर गांव के पास लखनऊ मे कई संगीन वारदातो को अंजाम देने वाले 3 बदमाशो की गिरफ्तारी की थी। उसके पहले 3 अप्रैल को वैदपुरा इलाके मे मुठभेड़ में 25000 के इनामी बदमाश की गिरफ्तारी प्रमुख है।

Facebook Comments