दर्दनाक अपनी ही मां करती थी बच्चों के साथ हैवानियत, दो साल से कमरे में बंद कर करती थे अपने बेटों संग ये…

राजधानी के जनकपुरी इलाके में एक मां द्वारा अपने बच्चों पर क्रूरता का सनसनीखेज मामला देखने मिला जहाँ महिला ने अपने दो मासूम बेटों को वर्षों से घर में कैद कर रखा था. शुक्रवार को पड़ोसियों द्वारा जब इसकी शिकायत पुलिस को मिली तो उसने मां को गिरफ्तार कर बच्चों को बाल संरक्षण गृह भेजा दिया है.

पुलिस के मुताबिक, जनकपुरी के ए-1 ब्लॉक में रहने वाली वंदना मिश्रा ने खुद को और अपने दो मासूम बेटे (12 और 16 वर्षीय) को वर्षों से घर में कैद कर रखा रहा था. इस मामले में हैरान कर देने वाली बात तो यह है कि वंदना मिश्रा खुद पेशे से डॉक्टर रही हैं. पुलिस ने यह भी बताया कि आरोपी महिला की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है.

पूछताछ के दौरान पुलिस को स्थानीय लोगों ने बताया कि करीब एक दशक से डॉ. वंदना ने खुद को अपने घर में कैद कर रखा है. इतने वर्षों से घर में ही कैद रहने से बच्चों पर भी इसका मानसिक प्रभाव पड़ा है हालाँकि पुलिस ने बच्चों को मां के कैद से मुक्ति दिलाते हुए बाल संरक्षण गृह भेजा दिया है तो वहीँ महिला को कोर्ट में पेश किया गया और इलाज के लिए इहबास हॉस्पिटल भेज दिया है. फ़िलहाल पुलिस महिला के पति और परिजनों की तलाश कर रही है आपको बता दें पेशे डॉक्टर रहीं वंदना मिश्रा के पति भी डॉक्टर थे.

Facebook Comments