पुलिसवालों ने वो किया जो नहीं करना चाहिए था ,मैंने थाने जाकर कहा मेरा रेप हुआ है तो….

युवतियों की शिकायत दर्ज करने को लेकर पुलिस भले ही कितने भी दावे करे, लेकिन गंभीर अपराध दर्ज करने से पहले पुलिस ही युवतियों को डरा देती है।

पुलिस का कहना होता है कि यदि एफआईआर की तो अदालत के चक्कर काटने होंगे और वकील तमाम तरह के सवाल पूछेंगे। एडीजी अरुणा मोहन राव के पास भोपाल की एक युवती ने ऐसा ही आवेदन दिया है। इसमें एक चौंकाने वाली बात यह सामने आई है कि युवती को पहले महिला थाने और बाद में कोलार थाने में रात तीन बजे तक बैठाकर रखा गया।

 

थाने में एक सिपाही ने उसे छुआ भी और जब वह घर पहुंची तो उसके मोबाइल पर सिपाही का मैसेज भी आया। ये मामला अब पुलिस मुख्यालय की महिला सेल एडीजी के पास पहुंचा है।

एक प्राइवेट कंपनी में काम करने वाली युवती की शिकायत जब पुलिस में नहीं सुनी तो उसे पीएचक्यू की शरण लेनी पड़ी। युवती दो सितंबर की शाम को महिला थाने पहुंची थी। उसका आरोप है कि ईशांत ढोंक और कमलेश धुर्वे नाम के दो युवकों ने उसका शोषण किया है। महिला थाने की पुलिस युवती को साथ लेकर दोनों युवकों के घर गई और उन्हें थाने ले आई।

यहां उसे किसी ममता मैडम ने समझाया कि यदि वह एफआईआर करती है तो उसे कई बार अदालत जाना पड़ेगा, वकील तमाम सवाल करेगा, बदनामी भी होगी। फिर उसे बोला गया कि मामला कोलार का है। कोलार में रात तीन बजे तक उसे थाने में बैठाकर रखा गया। इसके बाद मामूली धाराओं में दोनों युवकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई।

 

जब वह घर पहुंची तो थाने के सिपाही रहमत ने उसे मोबाइल पर मैसेज किया। इसके बाद छूटते ही दोनों आरोपी युवकों ने युवती को परेशान करना शुरू कर दिया। उसे बयान बदलने और केस वापस लेने की धमकी दी गई। जब युवती तत्कालीन आईजी योगेश चौधरी से 26 सितंबर को मिली तो उनके निर्देश पर दोनों युवकों को गिरफ्तार किया गया।

इसके बाद युवकों ने छूटते ही फिर युवती को परेशान करना शुरू कर दिया। युवती का आरोप है कि किसी पूर्व मंत्री का पीए इन दोनों को संरक्षण दे रहा है। युवती के मोबाइल की कॉल डिटेल निकलवा कर कमलेश धुर्वे युवती के आफिस पहुंचा और उसे बदनाम करने लगा।

अब युवती अपने ऑफिस भी नहीं जा पा रही है। ऐसे में उसने एडीजी की शरण ली है। सिपाही के खिलाफ भी कोई कार्रवाई नहीं हुई है। युवती का कहना है कि आरोपी उसकी निजी जिंदगी में दखल दे रहे हैं और उसेे बदनाम कर रहे हैं।

 

Facebook Comments