CWG में फिर लहराया भारत का परचम : पूनम यादव ने भारत की झोली में डाला एक और गोल्ड

इंग्लैंड की सारा डेविस ने क्लीन ऐंड जर्क के अपने आखिरी प्रयास में 128 किलोग्राम भार उठाने का प्रयास किया लेकिन वह ऐसा नहीं कर पायीं. अगर वह ऐसा कर लेतीं तो पूनम को सिल्वर से संतोष करना पड़ता.

21वें कॉमनवेल्थ गेम्स के चौथे दिन पूनम यादव ने गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ खेलों में भारत को एक और गोल्ड मेडल दिलाया है. ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में जारी 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स में पूनम ने वेटलिफ्टिंग में 69 किलोग्राम भार वर्ग में यह मेडल जीता है. पूनम ने कुल 222 किलोग्राम स्नैच में 100 किलोग्राम, क्लीन ऐंड जर्क में 122 किलोग्राम किलो वजन उठाया.  यह इन खेलों में भारत का पांचवां और पूनम ने स्नैच के पहले प्रयास में 95 किलो वजन उठाया, वहीं दूसरे में उन्होंने 98 और तीसरे प्रयास में 100 किलो भार उठाया. इंग्लैंड की सारा डेविस 217 किलो स्नैच में 95 किलोग्राम और क्लीन ऐंड जर्क में 122 किलोग्राम भार उठाया.

फिजी की अलोपोनिया वाईवाई ने 216 किलोग्राम स्नैच में 100 किलोग्राम, क्लीन ऐंड जर्क में 116 किलोग्राम भार उठाया. पूनम ने 2014 में हुए ग्लास्गो राष्ट्रमंडल खेलों में 63 किलोग्राम भारवर्ग में ब्रॉन्ज मेडल जीता था. पूनम 222 किलो के साथ लीड पर थीं. इंग्लैंड की सारा डेविस ने क्लीन ऐंड जर्क के अपने आखिरी प्रयास में 128 किलोग्राम भार उठाने का प्रयास किया लेकिन वह ऐसा नहीं कर पायीं. अगर वह ऐसा कर लेतीं तो पूनम को सिल्वर से संतोष करना पड़ता.

इसके अलावा कॉमनवेल्थ खेलों के तीसरे दिन भी भारतीय वेटलिफ्टर्स सतीश कुमार शिवलिंगम ने भी गोल्ड जीता. सतीश ने 77 किग्रा भारवर्ग में भारत का झंडा बुलंद किया. वह कुल 317 किग्रा भार उठाकर पहले स्थान पर रहे. उन्होंने स्नैच में 144 किग्रा और क्लीन एंड जर्क में 173 किग्रा भार उठाया. वह अपने प्रतिद्वंद्वियों से इतने आगे निकल गए कि क्लीन एवं जर्क में अपने आखिरी प्रयास के लिए नहीं गए.

Facebook Comments