जानिए किस तरह डिजिटल डोर नंबर’ करेगा ये काम….

दिल्ली नगर पालिका परिषद् अब अपने एरिया में आने वाले घरों को एक यूनिक नंबर देने जा रही है। एनडीएमसी ने घरों, हाउसिंग सोसायटीज व बिल्डिंगों की पहचान और वहां तक सरल तरीके से पहुंचने के लिए यूनिक स्मार्ट अड्रेसिंग सल्यूशन फॉर अर्बन प्रॉपर्टीज प्रोग्राम शुरू किया है।

इसके तहत इन सभी प्रॉपर्टीज को अल्फा न्यूमेरिक स्मार्ट अड्रेस दिया जाएगा, जिसे डिजिटल डोर नंबर का नाम दिया गया है। इसमें प्रॉपर्टीज के लिए एक यूनीक नंबर तैयार किया जा रहा है।

एनडीएमसी की ओर से जारी किए गए इस नंबर को प्रॉपर्टी के बाहर नेमप्लेट पर लगाया जाएगा। इसके साथ बारकोड भी दिया जाएगा, जिसे स्कैन करते ही प्रॉपर्टी के पूरी डिटेल सामने होगी। इन यूनिक नंबर को जारी करने का मकसद एनडीएमसी एरिया में रहने वाले लोगों को सुविधाएं देना है। नवंबर तक सभी प्रॉपर्टीज को डिजीटल डोर नंबर मिल जाएगा। एनडीएमसी का कहना है कि चूंकि नई दिल्ली स्मार्ट सिटी घोषित की गई है, इसलिए इसे पूरी तरह से स्मार्ट और डिजिटल बनाना हमारा लक्ष्य है।

इसके लिए एनडीमएसी ने बेहद साधारण प्रक्रिया रखी है। इसे जारी करने के लिए एनडीएमसी के कुछ अधिकारी इस एरिया में रहने वाले लोगों या अन्य प्रॉपर्टीज पर जाएंगे। वहां घर से संबंधित कुछ चीजें जांचने के बाद आपका आईडी कार्ड देखा जाएगा।

इसे देखने के तुरंत बाद आपको नंबर जारी कर दिया जाएगा। बारकोड भी दिया जाएगा, जिसे आपको अपने घर या अन्य प्रॉपर्टी के बाहर लगी नेमप्लेट पर लगाना होगा, ताकि भविष्य में एनडीएमसी से कोई भी अधिकारी आए, तो वह केवल बारकोड स्कैन कर प्रॉपर्टी ऑनर का नाम, टैक्स की डिटेल्स, बिजली पानी के बिल की जानकारी ले सकेंगे।

Facebook Comments