बुधवार को करें ये पूजन विधि और मंत्र का जाप ,पूरी होगी सारे काम …..

यह तो सभी जानते हैं कि बुधवार को भगवान श्रीगणेश की पूजा की जाती है. श्रीगणेश को बुद्धि का देवता माना जाता है.लेकिन ऐसा कहा गया है कि बुधवार को यदि भगवान श्रीगणेश के साथ ही बुध देव की पूजा भी की जाए तो प्रखर बुद्धि के साथ ही सुख-समृद्धि भी मिलती है.

आपको बता दें कि ज्योतिष में बुध ग्रह को मानसिक तनावों से राहत देने वाला मन की एकाग्रता पढ़ाने वाला और याददाश्त तेज करने वाला ग्रह माना गया है. इसके साथ ही काराबोर में सफलता भी बुध के शुभ योग से ही मिलती है. जिन लोगों की बुध की दशा सही नहीं चल रही है या अपनी बुद्धि और बिजनेस में बढ़ोतरी पाना चाहते हैं तो इसके लिए पूजन विधि और मंत्र भी हैं , जिनके जाप से इस ग्रह की पीड़ा से मुक्ति पाई जा सकती है.

पूजा विधि : बुधवार की सुबह स्नान आदि के बाद किसी नवग्रह मंदिर जाकर बुध देवता की पूजा करें. बुध देवता को हरे रंग के कपड़े अर्पित कर भोग में दही-भात और गुड़ समर्पित करें. पूजन पश्चात् नीचे लिखे मंत्रों में से किसी 1 की कम से कम 5 माला जाप करें.मंत्र पश्चात् थोड़ा प्रसाद स्वयं खाएं और बाकी बांट दें.बुध देवता की पूजा इस विधि से करने से मानसिक तनाव कम होता है और बुद्धि तेज होती है.

मंत्र इस प्रकार हैं

1. बुध त्वं बुद्धिजनको बोधद: सर्वदा नृणाम्। तत्वावबोधं कुरुषे सोमपुत्र: नमो नम:।।

2. ऊं बुं बुधाय नम:

3. ऊं ब्रां ब्रीं ब्रौं स: बुधाय नम:

Facebook Comments