भगवान् राम के करने है दर्शन तो जाएँ इस मंदिर में….

यह जगह मध्यप्रदेश के ओछरा शहर में स्थित है। यहां रहने वाले लोगों का दावा है कि सूरज ढलने के बाद इस महल में हर रोज राजा राम आते हैं और ठहरते हैं। बताया जाता है कि यहां दिन में पांच बार पुलिस द्वारा गार्ड और ऑनर भी दिया जाता है।

यूं तो संसार में भगवान के बहुत से घर हैं, जहां उन्हें अलग-अलग नामों और तरीको से पूजा जाता है। आज हम आपको भगवान के एक ऐसे घर के बारे में बताने जा रहे हैं जहां आज भी भगवान राम आते है। हैरान हो रहे होंगे आप, लेकिन वहां के लोगों का ये ही कहना है।

लोगों का कहना है कि भगवान राम रोजाना सुबह के समय आते हैं और सूरज ढलने के बाद जाते हैं। वैसे तो किसी ने आज तक उन्हें नहीं देखा है लेकिन उनकी मौजूदगी हर किसी ने महसूस की है। आप अब सोच रहे होंगे की भला भगवान राम यहां क्यों आते हैं…

इसके पीछे की कहानी बताई जाती है कि संवत 1600 में यहां के शासक मधुकर शाह थे जो कृष्ण भक्त थे और उनकी रानी राम भक्त थी। एक बार राजा ने रानी को कृष्ण उपासना के लिए वृंदावन चलने को कहा लेकिन रानी को राम की पूजा करनी थी। इस बात से राजा नाराज हो गये और उन्होंने कहा कि अगर तुम श्रीराम की इतनी ही बड़ी भक्त हो तो तुम उन्हें ओरछा में विराजमान करो।

रानी ने अयोध्या जाकर तपस्या शुरू की, लेकिन लंबे अर्से तक तप करने के बाद भी रानी को राम के दर्शन नहीं हुए। वह निराश होकर सरयू नदी में कूद गई। जल की गहराई के भीतर ही रानी को भगवान राम के दर्शन हो गए और रानी को बचा लिया। इसके बाद भगवान राम रानी के साथ उनके महल में विराजमान होने के लिए चल दिए और तब से रोजाना भगवान राम इस महल में आते हैं।

Facebook Comments