रोज नृत्य करते नजर आते है हनुमान जी,इस अनोखे मंदिर में ….

हनुमान जी ही एक ऐसे देवता है जो कलियुग में भक्तों की थोड़ी सी भक्ति में प्रसन्न हो जातें है। हर व्यक्ति हनुमान जी की कृपा की आस रखता हैं और इसके लिए वह कई प्रयास करता हैं और हनुमान जी को खुश करने की कोशिश करता हैं ताकि हनुमान जी खुश हो और उनकी कृपा उन पर बनी रहें जिससे उसके सारे बिगड़े काम बन जाए।

 

भारत में भगवान हनुमान जी के हजारो मंदिर है, मुख्यत सभी हनुमानजी के मंदिरों में इन्हे गदा के साथ महाबली रूप में दर्शन देते देखा जाता है लेकिन आज हम जिस मंदिर के बारें में बताने जा रहे है उस मंदिर में हनुमान जी के हाथों में गदा नहीं बल्कि वे नृत्‍य करते नजर आ रहे है।

झांसी में एक ऐसा मंदिर है जहां हनुमान जी के हाथों में गदा नहीं बल्कि वे डांस करते नजर आते हैं। यहां स्‍थापित मूर्ति में हनुमान जी का एक हाथ सिर पर है और दूसरा हाथ कमर पर है। मान्‍यता है कि नाचते हुए हनुमान जी की प्रतिमा को वस्‍त्र नहीं पहनाया जाता है, लेकिन इन्‍होंने वस्‍त्र भी धारण कर रखा है। इनकी रक्षा के लिए मंदिर के बाहर दो दरबानों को भी रखा गया है।

 

लोगो के अनुसार इस मंदिर में हनुमानजी के नृत्य करने प्रतिमा के पीछे रामायण की एक कथा है। जब श्री राम ने रावण को लंका में हराके सीता मैय्या को पुनः पाया और फिर अयोध्या लौटकर उनका जब राज्याभिषेक हो रहा तब उनके परम भक्त हनुमानजी से रहा नहीं गया। वो इतने प्रसन्न हुए की दरबार में सभी के सामने मस्त होकर नृत्य करने लग गये। उसी छवि पर इस मंदिर में यह मूरत लगाई गयी है। इस मूर्ति में हनुमानजी के हाथ में गदा नही है , उनके चेहरे पर मुस्कान है। एक हाथ अपने सिर पर और दूसरा हाथ कमर पर है। झांसी में स्थित यह प्रतिमा इसी खुशी और रूप को प्रदर्शित करती है। भगवान की यह मूर्ति बेहद दुर्लभ है।

Facebook Comments