योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा कि मुस्लिम समुदाय के लोग तस्वीरों और मूर्तियों को तवज्जो नहीं देते…..

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने अय्यर के बयान को कांग्रेस की सच्ची भावनाएं कहा था.इससे पहले उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ और डेप्युटी सीएम केशव प्रसाद मौर्य भी कैंपस में जिन्ना की तस्वीर की आलोचना कर चुके हैं.दरअसल अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में जिन्ना की तस्वीर को लेकर बीजेपी नेता सतीश गौतम ने तस्वीर के वह लगे होने पर आपत्ति जताई थी और फिर शुरू हुआ वबाल जो फिलहान थमा नहीं है.

पाकिस्तान के जनक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर के कारण अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में विवाद फ़िलहाल थमा नहीं है. इस पर अब योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा कि मुस्लिम समुदाय के लोग तस्वीरों और मूर्तियों को तवज्जो नहीं देते इसलिए उन्हें जिन्ना की तस्वीर के लिए भी परेशान नहीं होना चाहिए. रामदेव बिहार के नालंदा में एक योग सेशन के बाद मीडिया से मुखातिब होने के दौरान यह कह रहे थे.

उन्होंने कहा, ‘अब मुसलमान तो चित्रों और मूर्तियों में विश्वास नहीं रखते. उनको तो इस बारे में चिंता ही नहीं करनी चाहिए।’ रामदेव ने मीडिया से यह भी कहा कि जिन्ना का भूत इन दिनों कुछ ज्यादा ही लाइमलाइट बटोर रहा है. उन्होंने आगे कहा कि पाकिस्तान के निर्माता अपने देश के लिए आदर्श हो सकते हैं लेकिन उनके लिए नहीं जो भारत की एकता और अखंडता पर यकीन रखते हैं.

मुद्दे को राजनितिक रूप लेते देर नहीं लगी. कांग्रेस के निलंबित नेता मणिशंकर अय्यर ने विवाद के इतर जिन्ना की तारीफ करते हुए उन्हें कायद-ए-आजम कहकर संबोधित किया था. इससे बीजेपी के नेताओं ने उनकी आलोचना करनी शुरू कर दी.

Facebook Comments