कुछ घंटों में ही फु्स्स हो गया बाबा रामदेव का मैसेजिंग ऐप खिम्बो..यूजर्स ने ली चुटकी

पतंजलि सिम कार्ड के बाद बाबा रामदेव WhatsApp को टक्कर देने के लिए मैसेजिंग App लेकर आए हैं. इस App का नाम है ‘किम्भो’. लेकिन इस App की किस्मत पतंजलि का अन्य प्रोडक्ट जैसी नहीं निकली. शुरुआती दौर में ही किम्भो विवादों से घिर गया है. दो दिन में ही किम्भो चारों ओर से आलोचना की शिकार हो रहा है.

पहले तो ‘स्वदेशी’ App के लिए पाकिस्तानी मॉडल का इस्तेमाल करना पतंजलि को भारी पड़ा, हालांकि नज़र में आते ही पतंजलि ने उस विज्ञापन को हटा लिया.

लेकिन App की जो दूसरी समस्या थी, उससे पतंजलि इतनी आसानी से नहीं बच सका. ट्विटर पर मशूहर हैकर Robert Batiste उर्फ़ Elliot Alderson ने किम्भो App की आलोचना में कई ट्वीट किये हैं. हर ट्वीट से एक ही बात सामने आती है, किम्भो में डेटा की सुरक्षा बुहत कमज़ोर है. इस App को आसानी से हैक किया जा सकता है. Elliot ने यहां तक दावा कर दिया कि वो किसी के मैसेज को भी आसानी से पढ़ सकता है.

Elliot की मानें तो पतंजलि का किंभु App किसी दूसरे App की नकल है. एक अन्य ट्वीट के ज़रिए ये भी कहा गया कि ‘BOLO’ नाम के App को बदल कर किम्भो कर दिया गया है. ये बदलाव शायद इतनी जल्दबाज़ी में हुई की कई जगह से ‘BOLO’ हटा ही नहीं है. 

लॉंच के फ़ौरन बाद ही किम्भो को पचास हज़ार बार डाउनलोड किया गया. फ़िलहाल किन्हीं कारणों से इसे गुगल के प्लेस्टोर से हटा दिया गया है.

अब ये देखना होगा कि क्या बड़ी-बड़ी FMCG कंपनिज़ को धूल चटाने वाली पतंजलि क्या WhatsApp को टक्कर दे पाएगी.

Facebook Comments